Petrol Disel Price Hike: कोरोना महामारी से पहले से ही परेशान देश की जनता पर अब महंगाई की मार भी पड़ने वाली है. दरअसल बुधवार को राजधानी दिल्ली में डीजल की कीमतों में ऐतिहासिक इजाफा हुआ है. पहली बार दिल्ली में डीजल की कीमतें पेट्रोल से ज्यादा हो गई है. मालूम हो कि देश में पेट्रोल और डीजल के दाम पिछले 18 दिन से लगातार बढ़ रहे हैं. इस पर कई विशेषज्ञों का कहना है कि अगर कीमतों में बढ़ोतरी ऐसे ही जारी रहती है तो आने वाले दिनों में देश में पेट्रोल-डीजल के भाव 100 रुपये को भी पार कर सकते हैं.

बता दें कि बुधवार को दिल्ली में डीजल के दाम में 48 पैसे की बढ़ोतरी हुई है. अब दिल्ली में एक लीटर डीजल की कीमत 79.88 रुपये प्रति लीटर हो गई है. यह लगातार 18वीं दिन है जब डीजल के भाव बढ़े हैं. दरअसल डीजल की कीमत पेट्रोल से ज्यादा इसलिए हो गई क्योंकि पेट्रोल की कीमत में आज कोई भी बढ़ोतरी हुई नहीं है. जानकारों के मुताबिक तेल कंपनियों ने भारत में पेट्रोल डीजल के भाव तब बढ़ाने शुरू किये जब कच्चा तेल काफी नीचे 19 डॉलर प्रति बैरल के आसपास था. अब कच्चे तेल का दाम बढ़ रहा है. ब्रेंट क्रूड 40 डॉलर प्रति बैरल के आसपास पहुंच गया है.

इंडियन ऑयल के मुताबिक पेट्रोल की बेस प्राइस जहां 22.11 रुपये प्रति लीट है. वहीं डीजल की बेस प्राइस 22.93 रुपये प्रति लीटर है. यानी डीजल की लागत थोड़ी ज्यादा है, जिन राज्य में डीजल पर टैक्स ज्यादा है, वहां अब डीजल के दाम बढ़ गए हैं. उत्तर प्रदेश जैसे कृषि प्रधान राज्यों में अभी डीजल पर वैट कम है, इसलिए अभी यहां डीजल के दाम कम है.

मालूम हो कि बीते 18 दिनों डीजल की कीमतों में कुल 10.48 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है. वहीं पेट्रोल 8.50 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ है. पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हो रहे इस रिकॉर्ड इजाफे की मार देश की आम जनता पर पड़ने वाली है. खासकर डीजल का दाम बढ़ना जनता के लिए बेहद खराब है. भारत में डीजल का इस्तेमाल खेती, ट्रांसपोर्ट जैसे जरूरी काम में किया जाता है. डीजल के दाम बढ़ने से ट्रकों का भाड़ा बढ़ जाएगा, जिसके चलते महंगाई बढ़ने के पूरे आसार है.

Patanjali Corona Meidicine: पतंजलि की कोरोनिल पर उत्तराखंड आयुर्वेद विभाग का बयान- हमसे कफ और बुखार की दवा का लाइसेंस मांगा था!

Rahul Gandhi Target Modi Government: राहुल गांधी का मोदी सरकार पर निशाना, कहा- पेट्रोल-डीजल की कीमतें अनलॉक कर दी