नई दिल्लीः पेप्सिको की सीईओ इंदिरा नूई अपने पद से 3 अक्टूबर को अपने पद से इस्तीफा दे देंगी. वह पिछले 24 साल से पेप्सिको के साथ थीं और 2006 में उन्होंने सीईओ पद संभाला था. वह पेप्सिको की पहली महिला सीईओ हैं. नूई की जगह पेप्सिको की कमान अब रमोन लगुर्ता को दी जाएगी. लुगर्ता पेप्सिको के साथ 22 साल से जुड़े हुए हैं और लगातार कंपनी के विभिन्न पदों पर शामिल रहे हैं. आपको बता दें कि इंदिरा भारतीय मूल की हैं और पेप्सिको में सीईओ के साथ-साथ चेयरमैन पद पर भी काम कर रहीं हैं.

अक्टूबर में वह सिर्फ सीईओ के पद से इस्तीफा देंगी और 2019 तक चेयरमैन पद पर बनी रहेंगी. जनवरी,2019 में वह चेयरमैन का पद भी छोड़ देंगी. आपको बता दें कि भारतीय मूल की इंदिरा नुई विश्व की एक जानी-मानी शख्सियत हैं. वह हमेशा विश्व की शीर्ष 100 महिलाओं में बनी रहती है. 2015 में वह विश्व की दूसरी सबसे पॉवरपुल महिला बनी थी. इस अवसपर पर इंदिरा नुई थोड़ी भावुक दिखाई दीं. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा आज का दिन उनके लिए काफी महत्वपूर्ण है.

नुई ने लिखा कि उन्हें इस बात का बहुत गर्व है कि वह 24 सालों से एक ऐसी कंपनी का हिस्सा रहीं, जो उनके लिए सिर्फ एक कंपनी नहीं बल्कि उनके जिंदगी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. नुई ने लिखा कि उन्हें गर्व है कि वह एक ऐसी टीम का हिस्सा हैं, जिन्होंने लगातार अच्छा काम किया और पेप्सिको को विश्व की शीर्षस्थ कंपनी बनाए रखा. नुई को भरोसा है कि रमोन लगुर्ता के नेतृत्व में उनकी टीम आगे भी लगातार अच्छा करती रहेगी.

दुनिया की 100 ताकतवर औरतों की फोर्ब्स लिस्ट में प्रियंका चोपड़ा, 4 और भारतीय महिलाएं हैं सूची में

इंदिरा नूई ने की वूमेन फ्रेंडली चिप्स बनाने की वकालत, कहा- महिलाएं उंगली चाटकर नहीं ले पाती फ्लेवर का मजा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App