नई दिल्ली. पेगासस जासूसी मामले को लेकर आज रक्षा मंत्रालय ने राज्यसभा में लिखित जवाब में कहा कि इजरायल के पेगासस स्पाईवेयर बनाने वाले NSO ग्रुप के साथ कोई लेन-देन नहीं हुआ है।

विपक्ष के लगातार हमलावर होने के बाद पहली बार सरकार की ओर से कोई आधिकारिक बयान आया है। वहीं संसद में पेगासस को लेकर गतिरोध बना हुआ है.ल। 19 जुलाई से मॉनसून सत्र आरंभ हुआ था। लेकिन, अब तक सदन की कार्यवाही बाधित रही है। सत्र का समापन 13 अगस्त को होना है। हंगामे के बीच ही सरकार ने सदन में अनेक विधेयक को पारित कराया है तथा पेश किया है।

आज भी विपक्षी दलों की बैठक हुई. इस बैठक के बाद सूत्रों ने बताया कि विपक्षी दल पेगासस जासूसी मामले पर चर्चा की मांग को लेकर सरकार पर दबाव बनाने का प्रयास करते रहेंगे। साथ ही महंगाई और किसानों से जुड़े मुद्दों पर सरकार को घेरेंगे।

Indian Olympic Star: टोक्यो से भारत आए खिलाड़ियों का जोरदार स्वागत, सेल्फी लेने के लिए मची होड़

Covid Vaccine: कोविड का टीका अनिवार्य करने का मामला कोर्ट पहुंचा, सुप्रीम कोर्ट ने मांगा केंद्र से जवाब

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर