नई दिल्ली. पेगासस जासूसी की आंच अब पत्रकारों के बाद विपक्ष के नेताओं तक पहुंच गई है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी भी इस सूची में शामिल हैं। द वायर के मुताबिक, पेगासस प्रोजेक्ट के तहत द वायर  और इसके मीडिया पार्टनर इस बात की पुष्टि कर सकते हैं कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी का कम से कम दो मोबाइल फोन भारत के उन 300 प्रमाणित नंबरों की सूची में शामिल हैं, जिनकी निगरानी करने के लिए इजराइल के एनएसओ ग्रुप के एक भारतीय क्लाइंट द्वारा पेगासस स्पायवेयर का इस्तेमाल करने की योजना बनाई गई थी।

राहुल गांधी के फोन की फॉरेंसिक जांच नहीं हो पाई है, क्योंकि फिलहाल वे उस हैंडसेट का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, जिसे वे 2018 के मध्य और 2019 के बीच किया करते थे और इसी दौरान उनका नंबर निगरानी सूची में शामिल किया गया था। फॉरेंसिक जांच नहीं हो पाने के चलते यह स्पष्ट रूप से बताना संभव नहीं है कि गांधी के फोन में पेगासस डाला गया था या नहीं, लेकिन उनके करीबियों से जुड़े कम से कम नौ नंबरों को निगरानी डेटाबेस में पाया जाना ये दर्शाता है कि इसमें राहुल गांधी की मौजूदगी महज इत्तेफाक नहीं है। गांधी ने द वायर  को बताया कि पूर्व में उन्हें संदिग्ध वॉट्सऐप मैसेज प्राप्त हुए थे, जिसके बाद उन्होंने तत्काल अपने नंबर और फोन बदल दिए, ताकि उन्हें निशाना बनाना आसान न हो।

पीके भी ज़द में

मीडिया की तरफ से जारी लिस्ट में चुनाव लड़ाने के लिए रणनीति बनाने में माहिर प्रशांत किशोर का भी नाम है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के भतीजे और सांसद अभिषेक बनर्जी का नाम उन लोगों में है, जिनके फोन की कथित तौर पर पेगासस से नजरदारी की गई। मीडिया संस्थानों ने दावा किया है कि पूर्व चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की भी नजरदारी पेगासस से की गई। इसके अलावा मौजूदा आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव और प्रह्लाद पटेल की नजरदारी भी इजरायली कंपनी के स्पाईवेयर से किए जाने का दावा मीडिया संस्थानों ने किया है।

कांग्रेस का हमला

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सरकार ने राहुल गांधी समेत अपने खुद मंत्रिमंडल में बैठे मंत्रियों की फोन टैपिंग करवाई है. उन्होंने नागरिकों के मौलिक अधिकारों को दबाने का केन्द्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र ने देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने का काम किया है। कांग्रेस ने राहुल गांधी की जासूसी करवाने को लेकर गृहमंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग की है।

Opposition on Pegasus: पेगासस जासूसी पर विपक्ष ने सरकार को घेरा, ओवैसी बोले- हैकिंग और टैपिंग अपराध चाहे सरकार करे या कोई शख्स

Pegasus Scandal: पेगासस तूल के जरिए इन पत्रकारों की हुई जासूसी, देखें पूरी लिस्ट