नई दिल्ली. पेगासस जरिए कथित तौर पर भारत में विपक्षी नेताओं और पत्रकारों की जासूसी का मामला अब सुप्रीम कोर्ट जा पहुंचा है। एडवोकेट मनोहर लाल शर्मा की ओर से सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई है। याचिका में सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में एसआईटी जांच की मांग की गई है और साथ ही भारत में पेगासस की खरीद पर रोक लगाने की भी मांग की गई है।

उधर पेगासस को लेकर सरकार विपक्ष के निशाने पर भी है। कांग्रेस पार्टी संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच कराने की मांग कर रही है। हालांकि सरकार इस जासूसी के मामले को संसद में भी खारिज कर चुकी है।

इजरायल ने बनाई जांच कमेटी

इस मामले में लगातार लग रहे आरोपों के बीच इजरायल ने इस पूरे मामले की जांच के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया है। इजरायल ने वरिष्ठ मंत्रियों की एक टीम बनाई है, जो इस पूरे विवाद पर नजर रखेंगे। इस टीम का मुख्य फोकस इजरायल कंपनी NSO ग्रुप पर लग रहे आरोपों की जांच करना होगा।

खबरों के मुताबिक इस टीम में इज़रायल के रक्षा मंत्रालय, कानून मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और मोसाद से जुड़े लोग शामिल हैं।

OnePlus Nord 2: भारत में आज लॉन्च होगा ये दमदार फोन, यहां देख सकते हैं लाइव इवेंट

Sunny Deol Dialogue in Court : दिल्ली कोर्ट में गूंजा सनी देवल का डायलॉग तारीख पे तारीख, कंप्यूटर-कुर्सी भी तोड़ी