श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी गठबंधन टूटने के बाद दोनों पार्टियों के नेताओं में वाकयुद्ध छिड़ गया है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने महबूबा मुफ्ती पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि मुफ्ती सरकार जम्मू और लद्दाख के विकास की अनदेखी कर रही थीं इसके कारण हमने समर्थन वापिस ले लिया. शाह के बयान के बाद मुफ्ती ने ट्विटर के माध्यम से बीजेपी पर जमकर पलटवार किया. मुफ्ती ने कहा कि बीजेपी नेताओं के बयान सत्य से परे हैं.

मुफ्ती ने कहा कि हमारी सरकार के दौरान बीजेपी- पीडीपी नेताओं से सलाह मशविरा के बाद ही कोई फैसला लिया जाता था. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने जम्मू और लद्दाख से कभी भेदभाव नहीं किया है. शाह के ऐसे आरोपों की वास्तविकता का कोई आधार नहीं है. मुफ्ती ने कहा कि बीजेपी-पीडीपी सरकार एजेंडा ऑफ अलायंस पर चल रही थी. जिसका हिस्सा राम माधव भी थे.

मुफ्ती ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके आरोप निराधार हैं. उन्होंने सवाल किया कि भाजपा के मंत्री तीन साल तक क्या करते रहे, जबकि वह जम्मू का प्रतिनिधित्व कर रहे थे. अगर भेदभाव हो रहा था तो केंद्र या राज्य स्तर के नेताओं ने तीन साल तक जम्मू के विकास का मुद्दा क्यों नहीं उठाया. बता दें कि शनिवार को जम्मू में एक रैली के दौरान शाह ने मुफ्ती सरकार के तीन वर्षों के दौरान जम्मू और लद्दाख भेदभाव का आरोप लगाया था. शाह ने राज्य के लोगों से किए वादे को पूरा नहीं करने को लेकर भी पीडीपी को घेरा था.

भाजपा के आरोपों पर महबूबा मुफ्ती का पलटवार, कहा- PDP के हर फैसले में साथ ही BJP

जम्मू-कश्मीर में बोले अमित शाह- आपसे दिल और खून का रिश्ता, सरकार मायने नहीं रखती

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App