इस्लामाबाद: कुलभूषण जाधव मामले को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में ले जाकर दुनिया भर में अपनी बेज्जती करवाने वाला पाकिस्तान एक बार फिर कश्मीर मुद्दे को लेकर आईसीजे का रूख करने जा रहा है. संयुक्त राष्ट्र में मामले को उठाने से कोई फायदा ना होते देख पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे को आईसीजे में ले जाने का फैसला किया है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि तमाम कानूनी पहलूओं पर विचार करने के बाद पाकिस्तान ने तय किया है कि कश्मीर का मुद्दा वो इंटरनेशल कोर्ट ऑफ जस्टिस में ले जाएंगे.

कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान का कानून मंत्रालय जल्द ही इस बाबत सारी कागजी कार्रवाई पूरी कर लेगा. गौरतलब है कि भारत ने 5 अगस्त को कश्मीर से धारा 370 खत्म करने का एलान किया था तभी से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. खिसयानी बिल्ली खंबा नोचे वाले कहावत की तर्ज पर पाकिस्तान ने भारत के साथ सभी तरह के व्यापारिक और कूटनीतिक रिश्ते खत्म करने का एलान किया था. यही नहीं पाकिस्तान ने भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस ट्रेन और लाहौर बस सेवा को भी बंद कर दिया था.

इस मामले को को लेकर पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र भी जा चुका है जहां उसे मुंह की खानी पड़ी क्योंकि फ्रांस और रूस समेत बाकी देशों ने इस मामले को भारत का अंदरुनी मामला मानते हुए कमेंट करने से इनकार कर दिया और भारत का समर्थन किया वहीं दूसरी तरफ चीन ने भी तटस्थ भूमिका निभाते हुए ना पाकिस्तान का समर्थन किया और ना ही भारत के ही पक्ष में बोला. लिहाजा भारत को संयुक्त राष्ट्र में कूटनीतिक जीत मिली. बौखलाया पाकिस्तान अब कश्मीर मामले को आईसीजे लेकर जाना चाह रहा है लेकिन वहां भी उसे मुंह की खानी पड़ेगी क्योंकि भारत का पक्ष बेहद मजबूत है और कश्मीर को लेकर भारत की दलीलों के आगे पाकिस्तान कहीं टिक नहीं पाएगा. पाकिस्तान जैसे ही कश्मीर की बात करेगा वैसी ही भारत उसे पीओके पर घेर लेगा जिसका उसके पास कोई जवाब नहीं है.

Donald Trump calls PM Narendra Modi: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने की पीएम नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के पीएम इमरान खान से बात, दी भारत के खिलाफ बयानबाजी करने पर चेतावनी!

IMA Slams British Journal Commenting on Jammu Kashmir: ब्रिटिश जर्नल ने नरेंद्र मोदी सरकार के जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले की निंदा की तो इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने दिया मुंहतोड़ जवाब