PAK PM Imran Khan on Women : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान एक विवादित बयान दिया है। देश में महिलाओं के साथ बढ़ी यौन हिंसा की घटना के लिए उन्होंने उनके कपड़ों को जिम्मेदार ठहराया है।

एचबीओ एक्सिओस को दिए इंटरव्यू में पत्रकार जोनाथन स्वॉन उनसे पाकिस्तान में रेप पीड़िता को कसूरवार ठहराए जाने के एक मामले में सवाल पूछे थे। साक्षात्कार के दौरान पाकिस्तान के पीएम ने कहा कि, “अगर महिलाएं बहुत कम कपड़े पहनेंगी तो ये पुरुषों पर असर डालेगा, बशर्ते वो रोबोट न हों। ये एक कॉमनसेंस है।” हालांकि उन्होंने कहा कि मैंने रेप पीड़िता पर कभी कोई टिप्पणी नहीं की. बल्कि मैंने सिर्फ इतना कहा था कि पर्दे की व्यवस्था समाज में लुभाए जाने से बचने के लिए है।

एक अन्य सवाल के जवाब में पीएम इमरान ने कहा, ”पाकिस्तान में न ही डिस्को हैं और न ही नाइट क्लब हैं। यहां बिलकुल अलग समाज है, जहां जीने का अलग तरीका है। अगर आप यहां पर प्रलोभन बढ़ाएंगे और युवाओं को कहीं जाने का मौक़ा नहीं होगा तो इसके कुछ न कुछ परिणाम तो सामने आएंगे ही ना।”

बयान पर हो रही आलोचना

इस टिप्पणी पर पाकिस्तान में विपक्षी दल उनकी आलोचना कर रहे हैं और उनके बयानों को महिलाओं के खिलाफ बता रहे हैं।

वहीं इमरान खान के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर काफी गुस्सा देखा गया। लोग उनके इस बयान पर उन्हें आड़े हाथों ले रहे हैं। पाकिस्तान मुस्लिम लीग की प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने इमरान को बीमार और महिला विरोधी करार देते हुए कड़ी आलोचना की।

इंटरनेशनल कमिशन ऑफ ज्यूरिस्ट की दक्षिण एशिया की कानूनी सलाहकार रीमा ओमर ट्वीट कर कहा, प्रधानमंत्री इमरान खान का यौन हिंसा पर आया बयान बेहद निराशाजनक है, जिसमें उन्होंने एक बार फिर पीड़ित को ही दोषी ठहराया है। यह घटिया है।

Amarnath Yatra 2021: कोरोना की वजह से अमरनाथ यात्रा रद्द, यहां जाकर ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त

COVID-19 Third Wave : IIT कानपुर ने किया दावा सितंबर-अक्टूबर के आसपास आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर