Padam-award

उत्तरप्रदेश . Padam-award काशी के शिवानंद बाबा को मोदी सरकार पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित करने जा रही हैं. शिवानंद बाबा वाराणसी के कशी नगर इलाके के रहने वाले है और उनकी उम्र 126 साल है. इतनी लम्बी आयु के बाद भी बाबा पुरे तरीके से स्वास्थ्य है. यदि आप भी उनकी दिनचर्या को अपने दैनिक जीवन में उतार लेते है तो आप भी एक स्वास्थ्य और खुशाल ज़िन्दगी जी सकते है. शिवानंद बाबा के आधिकारिक दस्तावेज के मुताबिक उनकी जन्मतिथि 1896 है, जिसके मुताबिक वे दुनिया के सबसे बुजुर्ग आदमी है.

सात्विक भोजन है स्वास्थ्य जीवन का रहस्य

शिवानंद बाबा सिर्फ उबला हुआ खाना खाते है, वे मौसम चाहें कुछ भी हो हर रोज सुबह 3 बजे उठते है जिसके बाद कुछ देर तक योग करते है और ध्यान लगाते है. इसके बाद वे पूजा-पाठ करते है, जिसके बाद वे अपना खाना खाते है. शिवानंद बाबा बताते है कि उनके खाने में न कोई फल या दूध शामिल होता है बल्कि कम नमक वाला उबला हुआ खाना खाते है, जिसके बदौलत वे आज भी स्वास्थ्य है और ज़िन्दगी की हर सुबह का स्वागत कर रहे है.

बाबा योग से हैं निरोगपूर्ण

बता दें शिवानंद बाबा ने भारत सरकार के द्वारा पद्मश्री अवार्ड मिलने पर केंद्र सरकार का आभार जताया है और पीएम को धन्यवाद कहा है. बाबा का कहना है कि जीवन को हमे सामान्य तरीके से जीना चाहिए और शुद्ध, शाकाहारी भोजन से ही हम निरोगपूर्ण रह सकते है. वहीँ बाबा के वैद्य डॉक्टर एसके अग्रवाल ने बताया कि बाबा सात्विक भोजन करते हैं और पूरी तरह से डिसिप्लिन के साथ जिंदगी जीते हैं. बाबा के जीवन में योग का बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान है और उसी की बदौलत वे आज भी स्वास्थ्य और खुशाल है.

बाबा तब सुर्ख़ियों में आए जब उनकी योग का वीडियो बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी ने ट्विटर पर शेयर कर उनकी सेहत के बारे में सबको बताया था. ख़बरों के मुताबिक शिवानंद बाबा से ही प्रेरणा लेकर शिल्पा शेट्टी ने योग अभ्यास शुरू किया है.

यह भी पढ़ें :

Safe School Zone: मुंबई महानगरपालिका का पायलट प्रोजेक्ट हुआ सफल, स्टूडेंट्स ने माना अब स्कूल जाना पहले से सरल और सुरक्षित

Anurag’s Taunt on Akhilesh : शायराना अंदाज में अनुराग का अखिलेश पर तंज, ये वही सपा है, जिससे जनता खफा है

 

SHARE