नई दिल्ली. गुरुवार को आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग केस के सिलसिले में पूर्व वित्त और गृह मंत्री पी चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई रिमांड पर भेज दिया है. उन्हें बुधवार को दिल्ली स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया गया था. बता दें कि चिदंबरम के बेटे कार्ति पी चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया मामले के सिलसिले में पिछले साल अप्रैल में सीबीआई और न्यायिक हिरासत में 23 दिन बिताए थे. सीबीआई और ईडी दोनों पूर्व वित्त मंत्री के खिलाफ मनी-लॉन्ड्रिंग और भ्रष्टाचार के आरोपों और आईएनएक्स मीडिया समूह और पांच अन्य कंपनियों को 2007 में वित्त मंत्री रहते हुए विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) को मंजूरी देने में उनके बेटे की भूमिका की जांच कर रहे हैं. सीबीआई ने मई 2017 में दर्ज एफआईआर में आरोप लगाया कि आईएनएक्स मीडिया को 2007 में 305 करोड़ रुपये के विदेशी फंड मिले हैं. ईडी ने पिछले साल आईएनएक्स मीडिया मामले में कार्ति चिदंबरम और भारत, स्पेन और यूनाइटेड किंगडम की एक कंपनी की 54 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की थी.

2014 के चुनावों से पहले पी चिदंबरम द्वारा दायर हलफनामे के अनुसार, उन्होंने खुद को सुप्रीम कोर्ट में वरिष्ठ अधिवक्ता और उनकी पत्नी को मद्रास हाई कोर्ट में वरिष्ठ अधिवक्ता के रूप में वर्णित किया था. हलफनामे के मुताबिक, चिदंबरम और उनकी पत्नी के पास कुल मिलाकर 95.66 करोड़ रुपये की संपत्ति और देनदारियों की कीमत 5.79 करोड़ रुपये थी. उस समय उनके पास 5 लाख रुपये की नकदी थी और 24 विभिन्न बैंक खातों में 25.73 करोड़ रुपये की बैंक जमा राशि थी. 2014 में नकदी, जमा, म्यूचुअल फंड, सोना, शेयरों सहित उनकी कुल चल संपत्ति 54.30 करोड़ रुपये थी, जबकि उनकी अचल संपत्ति का मूल्य 41.35 करोड़ रुपये था.

उस समय चिदंबरम के पास 32 ग्राम सोना 87,232 रुपये और 3.25 कैरेट हीरे का मूल्य 97,500 रुपये था, जबकि उनकी पत्नी के पास 39 लाख रुपये का 1.437 किलोग्राम सोना और 20 लाख रुपये का 52 किलोग्राम चांदी का मूल्य था. उसके पास 76.61 कैरेट वजन के हीरे भी थे, जिसकी उस समय कीमत 23 लाख रुपये थी. चिदंबरम के बेटे कार्ति, जो 2019 में अपने चुनावी हलफनामे में शिवगंगा (तमिलनाडु) सीट से निर्वाचित सांसद हैं, ने अपनी कुल संपत्ति का मूल्य 79.37 करोड़ रुपये और देनदारियों का 17.69 करोड़ रुपये बताया. उनके पास लगभग 7 करोड़ रुपये की नकदी और बैंक जमा और 26 करोड़ रुपये की अन्य चल-अचल संपत्ति थी. उनके हलफनामे से पता चलता है कि उनकी अचल संपत्ति का मूल्य 45.85 करोड़ रुपये था.

बता दें कि पी चिदंबरम के पिता पलनियप्पा चेतियार लेफ्टिनेंट कर्नल थे, उनके दादा विभाजन से पहले करोबारी थे. इनके परिवार के पास आजादी से पहले भी कपड़ा मिल और चाय बागान थे. चिदंबरम के नाना अन्नामलाई चेतियार बैंकर थे जिन्हें ब्रिटेश राज में राजा की पदवी हासिल थी. उन्होंने यूनायटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी और अन्नामलाई विश्वविद्यालय की स्थापना की. चिदंबरम के नाना के भाई रामास्वामी चेतियार इंडियन बैंक और इंडियन ओवरसीज बैंक के संस्थापक हैं. यानि राष्ट्रीयकरण से पहले ये बैंक उनकी संपत्ति थे. उनके दो भाई बड़े उद्योगपति हैं. चिदंबरम की पत्नी नलिनी चिदंबरम पीएस कल्यासम की बेटी हैं जो सुप्रीम कोर्ट के जज थे. साथ ही खुद टैक्स की वकील हैं. उनकी सास सौंद्रा लेखक है और तमिल की मशहूर कवियित्री हैं. चिंदंबरम और उनके बेटे कार्ति पेशे से वकील हैं. चिदंबरम ने हार्वर्ड से एमबीए किया है जबकि कार्ति आस्टिन, टेक्सास से बीबीए कर चुके हैं और एलएलएम उन्होंने कैंब्रिज से किया है. कार्ति की पत्नी श्रीनिधि भरतनाट्यम की मशहूर कलाकार हैं.

P Chidambaram CBI Arrest ED Bail Supreme Court LIVE: पी चिदंबरम की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, पत्नी नलिनी और बेटा कार्ति कोर्ट में मौजूद

P Chidambaram Supreme Court Hearing: सीबीआई कस्टेडि में पी चिदंबरम से रातभर हुई पूछताछ, आज हो सकती है सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App