नई दिल्ली. सीबीआई कोर्ट ने पी चिदंबरम को पांच दिन की रिमांड पर भेज दिया है. आईएनएक्स मीडिया केस में गुरुवार दिन में हुई पूछताछ के बाद सीबीआई ने पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया था. सीबीआई की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने चिदंबरम की 5 दिन की रिमांड मांगी थी. सीबीआई ने कहा कि वे जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. सीबीआई कोर्ट ने चिदंबरम को 5 दिन की रिमांड पर भेजने का फैसला सुनाया. हालांकि अदालत में चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी ने रिमांड का विरोध किया और कहा कि इस केस में सबूतों का कोई लेना देना नहीं है. चिदंबरम ने शुरुआत से सीबीआई को जांच में सहयोग किया है. लेकिन कोर्ट ने चिदंबरम के वकीलों की एक दलील नहीं सुनी और उन्हें रिमांड पर भेज दिया है. 

इससे पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की दक्षिण दिल्ली स्थित अपने घर से बुधवार देर रात एक नाटकीय गिरफ्तारी के बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो, सीबीआई मुख्यालय में रात बिताई. सीबीआई और ईडी अधिकारी बुधवार को उन्हें गिरफ्तार करने के लिए उनके घर की दीवार फांद गए. श्री चिदंबरम को सीबीआई भवन के अतिथि-गृह तल में लॉक-अप सूट 3 में रखा गया था, जिसका उद्घाटन 2011 में उनकी उपस्थिति में किया गया था. उस समय कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार के गृह मंत्री के रूप में, वह विशेष अतिथि थे और तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ, भवन और इसकी लॉक-अप सुविधाओं के दौरे पर गए थे. 

यहां पढ़ें P Chidambaram on 5 Days CBI Remand  Full Updates:

Highlights

चिदंबरम को 26 अगस्त तक रिमांड पर भेजा

सीबीआई कोर्ट ने पी चिदंबरम को 5 दिन की रिमांड पर भेज दिया है. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि हर दिन आधा घंंटा उन्हें परिवार से मिलने की इजाजत होगी. 26 अगस्त को रिमांड खत्म होने के बाद चिदंबरम का मेडिकल टेस्ट होगा और फिर से कोर्ट में पेश किया जाएगा.

कोर्ट रूम में पहुंचे जज

सीबीआई कोर्ट का फैसला अब आने ही वाला है. जज अजय कुमार कोर्ट रूम में पहुंच गए हैं. चिदंबरम फिर से कठघरे में खड़े हो गए हैं.

आईएनएक्स मीडिया डील में चिदंबरम और कार्ति को हिस्सा मिला - सूत्र

सूत्रों के मुताबिक सीबीआई ने अपनी जांच में पाया है कि आईएनएक्स मीडिया डील में पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को हिस्सा मिला था. सीबीआई ने चिदंबरम से गुरुवार को पूछताछ की इसके बाद कोर्ट में पेश किया. सीबीआई कोर्ट ने चिदंबरम मामले पर अपना फैसला सुरक्षित रखा हुआ है. राउज एवेन्यू कोर्ट रूम में पी चिदंबरम, उनकी बेटी अदिति और पत्नी नलिनी समेत सभी लोग मौजूद हैं. कोर्ट रूम में जज अभी नहीं पहुंचे हैं. जज का इंतजार हो रहा है. किसी भी वक्त कोर्ट पी चिदंबरम की रिमांड पर अपना फैसला सुना सकती है.

पी चिदंबरम की सुप्रीम कोर्ट में याचिका पर कल होगी सुनवाई

सीबीआई मामले में अंतरिम सरंक्षण की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई कल यानी शुक्रवार को होगी. लेकिन ED केस में अंतरिम सरंक्षण की याचिका पर सुनवाई 27 अगस्त को तय की गई है. सीबीआई द्वारा गिरफ्तार होने के बाद बाद कल होने वाली सुनवाई के कोई मायने नहीं हैं लेकिन इससे ED को गिरफ्तारी के लिए और वक्त मिल गया है.

कोर्ट रूम में जज का इंतजार, चिदंबरम पर फैसला कभी भी

सीबीआई की राउज एवेन्यू कोर्ट में चिदंबरम से पूछताछ के बाद हुई सुनवाई पर करीब 90 मिनट बहस चली. सीबीआई की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट में पक्ष रखा. इसके बाद वकील कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी ने चिदंबरम का पक्ष रखा. कोर्ट रूम में सभी लोग मौजूद हैं और चिदंबरम को रिमांड पर भेजा जाए या नहीं इस पर किसी भी वक्त फैसला आ सकता है.

कोर्ट के बाहर सुरक्षा बढ़ाई गई, फैसला किसी भी वक्त

राउज एवेन्यू कोर्ट के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. सीबीआई जज अजय कुमार किसी भी वक्त चिदंबरम मामले पर अपना फैसला सुना सकते हैं. दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था.

किसी भी वक्त आ सकता है चिदंबरम पर फैसला

सीबीआई में दोनों पक्षों की दलील पूरी होने के बाद अब थोड़ी ही देर में सीबीआई जज अपना फैसला सुनाने जा रहे हैं. किसी भी वक्त चिदंबरम पर फैसला आ सकता है. फैसले का बाद ही साफ होगा कि पी चिदंबरम को सीबीआई रिमांड पर भेजा जाएगा या नहीं.

सीबीआई कोर्ट आधे घंटे में सुनाएगी फैसला

सीबीआई की राउज एवेन्यू कोर्ट में चिदंबरम मामले की सुनवाई पूरी हो चुकी है. दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है. शाम करीब 5.30 बजे सीबीआई जज अजय कुमार फैसला सुनाएंगे. इसके बाद साफ हो जाएगा कि क्या पी चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया मामले में सीबीआई रिमांड पर भेजा जाएगा या उन्हें जमानत मिलेगी.

दोनों पक्षों की बहस पूरी, चिदंबरम पर फैसला थोड़ी देर में

कोर्ट में दोनों पक्षों की बहस पूरी हो चुकी है. सीबीआई जज अजय कुमार थोड़ी देर में अपना फैसला सुनाएंगे. पी चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया केस में सीबीआई पर रिमांड पर भेजा जाएगा या फिर उन्हें जमानत मिलेगी, इस पर फैसला कुछ ही देर में हो जाएगा. सीबीआई कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है.

आईएनएक्स मीडिया केस में समझदार लोग शामिल हैं, ये बेहद गंभीर मामला है - सॉलिसिटर जनरल

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट रूम में चिदंबरम के वकीलों की दलील का जवाब देते हुए कहा कि आज सुबह सीबीआई ने 10.30 बजे से सवाल-जवाब शुरू किया था. जब हम चाहेंगे तभी तो सवाल करेंगे, आरोपी के कहने से तो शुरू नहीं करेंगे. यह बेहद गंभीर मामला है, जिसमें समझदार लोग शामिल हैं. अगर हम इस पूरे मामले की तह तक नहीं जा पाएंगे तो बतौर जांच एजेंसी हम फेल हैं.

चिदंबरम को इस मामले में गिरफ्तारी से लगातार राहत मिली हुई है - सॉलिसिटर जनरल

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने अदालत में दलील दी कि हमनें पी चिदंबरम के मामले में कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया था और कहा था कि इस मामले की जांच जारी है और आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जरूरत है. जज ने सॉलिसिटर जनरल से पूछा कि आपने हाई कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया था? तो उन्होंने कहा कि हमनें दाखिल किया था और चिदंबरम की कस्टडी में लेकर पूछताछ की मांग की थी. इस मामले में गवाह का बयान है. 20 जून के बाद चिदंबरम को कुछ ही समय बाद गिरफ्तारी से राहत मिल गई थी. उसके बाद से चिदंबरम को लगातार राहत मिली हुई थी, जब तक कि हाई कोर्ट ने अग्रिम जमानत याचिका खारिज नहीं कर दी.

आईएनएक्स मीडिया केस में कार्ति चिदंबरम को भी रिमांड पर भेजा गया था - सॉलिसिटर जनरल

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने फिर से बहस शुरू की है. उन्होंने कोर्ट में बताया कि कानून की नजर में सभी बराबर हैं. इनके तरफ से दो वकीलों ने बहस की हमनें कुछ नहीं कहा. नियम भी कोई चीज होती है. अदालत के सामने सब एक बराबर हैं. हम ऐसे आरोपी के बारे में बात नहीं कर रहे जो अज्ञानी हो. आरोपी पढ़े लिखे और बहुत ही समझदार हैं. तुषार मेहता ने कहा कि इस मामले में कार्ति चिदंबरम को भी रिमांड पर भेजा गया था. कार्ति इस मामले में पुलिस कस्टडी और ज्यूडिशियल कस्टडी में भी भेजे गए थे. कार्ति चिदंबरम को हाई कोर्ट से जमानत मिली थी.

पूरे केस में सीबीआई का रवैया गलत - अभिषेक मनु सिंघवी

अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि इस पूरे केस में ही सीबीआई का रवैया गलत है. पिछली बार पूछताछ में भी चिदंबरम ने पूरा सहयोग किया था. 11 महीने तक सीबीआई ने फोन तक नहीं किया. अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट में अपनी बहस पूरी कर ली है.

सरकारी गवाह के बयान की आड़ में सीबीआई ने चिदंबरम की गिरफ्तारी की - सिंघवी

अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट में दलील दी है कि आईएनएक्स मीडिया केस में सबूतों का कोई लेनादेना नहीं है. सीबीआई जो जवाब सुनना चाहती है वो जवाब चिदंबरम नहीं देंगे. सरकारी गवाह के बयान की आड़ में उनको गिरफ्तार किया है. सरकारी गवाह का बयान स्टेटस होता है सबूत नहीं. सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसलों का हवाला देते हुए कहा कि रिमांड कुछ ही मामलों में दी जाती है. ये मामला सबूतों के साथ छेड़छाड़ का नहीं है. सीबीआई क्यों चिदंबरम की अचानक गिरफ्तारी करने पर बेताब हो गई थी?

गुनाह कबूल नहीं करना, जांच में असहयोग नहीं - अभिषेक मनु सिंघवी

पी चिदंबरम के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने जज से कहा कि गुनाह कबूल नहीं करने का मतलब यह नहीं होता कि वे जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. सिंघवी ने कहा कि सीबीआई को वो जवाब नहीं मिल रहा है जो वे सुनना चाहते हैं. अब चिदंबरम जो सही है वो ही तो जवाब देंगे. चिदंबरम वो जवाब तो नहीं देंगे जो सीबीआई सुनना चाहती है. सिंघवी ने कहा कि जो उत्तर इनको नहीं मिल रहा उसी को सीबीआई जांच में असहयोग कह रही है. जांच में सहयोग तब नहीं होता जब 10 बार बुलाया जाता और आदमी 5 बार ही जाता.

आईएनएक्स मीडिया केस में 11 साल बाद गिरफ्तारी क्यों हो रही है- सिंघवी

अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट में बहस शुरू कर दी है. सिंघवी ने चिदंबरम की सीबीआई रिमांड का विरोध किया है. उनका कहना है कि सीबीआई ने इस मामले में किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया है. अब 11 साल बाद गिरफ्तारी क्यों हो रही है. इस मामले में इंद्राणी मुखर्जी के बयान को आधार बनाया गया. जज ने पूछा कि चिदंबरम को समन कब जारी किया गया था? इस पर सिंघवी ने कहा कि जून 2018 में.

कपिल सिब्बल ने पूरी की बहस, अब चिदंबरम की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी ने संभाला मोर्चा

कपिल सिब्बल ने कोर्ट रूम में बहस के दौरान तीन फैसलों के हवाला दिया गया जिसमें जमानत आरोपी का अधिकार है. उन्होंने कहा कि सीबीआई डायरी की बात कर रही है और ये केस डायरी को सबूत कह रहे हैं. डायरी को आप सबूत नहीं कह सकते हैं. कपिल सिब्बल ने अपनी बहस पूरी कर ली है. अब पी चिदंबरम के दूसरे वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने बहस शुरू की है.

चिदंबरम के जांच में सहयोग नहीं करने के सीबीआई के आरोप बेबुनियाद - सिब्बल

पी चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने कोर्ट को बताया कि सीबीआई ने चिदंबरम से पूछा था कि आपका बैंक अकाउंट विदेश में है तो उन्होंने कहा था कि नहीं. सीबीआई के आरोप बेबुनियाद है कि चिदंबरम ने जांच में सहयोग नही किया. अगर हाई कोर्ट के जज ने फैसला सुनाने में 7 महीने का समय लिया और तब तक हमें राहत मिली तो क्या इसमें हमारी गलती है?

सीबीआई ने चिदंबरम से रात भर पूछताछ क्यों नहीं की - कपिल सिब्बल

जब सीबीआई ने पी चिदंबरम को कल रात गिरफ्तार कर लिया था तो उनसे रात में पूछताछ क्यों नहीं की. आज सुबह भी चिदंबरम 8 बजे सो कर उठे, इन्होंने पूछताछ नहीं की. पूछताछ 11 बजे शुरू हुई. साथ ही अगर आईएनएक्स मीडिया केस में किसी ने पैसा लिया होता तो कहीं न कहीं जाता. किसी अकाउंट में या किसी के बैग में. ये पैसे कहां गए? आप केस डायरी देखिए इसमें पैसों का जिक्र कहां है?

सीबीआई के सबूतों पर कैसे भरोसा किया जाए - कपिल सिब्बल

पी चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने सीबीआई कोर्ट में कहा कि इस मामले की जांच पूरी हो चुकी है और ड्राफ्ट चार्जशीट भी तैयार है. सीबीआई बताए किी आज सुबह चिदंबरम से जो 12 सवाल पूछे थे वो क्या थे. 6 जून को हुई पूछताछ की पूरी डिटेल भी सीबीआई से मांगी जाए. चिदंबरम ने इस मामले की जांच में हमेशा सहयोग किया है.

कपिल सिब्बल का तर्क - FIPB के 6 सेक्रेटरी को गिरफ्तार क्यों नहीं किया

कपिल सिब्बल ने तर्क दिया है कि एफआईपीबी यानी फॉरेन इनवेस्टेमेंट प्रोमोशन बोर्ड के 6 सेक्रेटरी को गिरफ्तार क्यों नहीं किया. जबकि आईएनएक्स मीडिया केस में मनी ट्रांसफर की मंजूरी एफआईपीबी के सेक्रेटरी ने ही दी थी. दूसरी तरफ सीबीआई को यह तक पता नहीं है कि पी चिदंबरम कब गिरफ्तार हुए हैं. सीबीआई के सबूतों पर कैसे भरोसा किया जाए. जबकि चिदंबरम हमेशा से जांच में सहयोग करते आए हैं.

इंद्राणी, पीटर, कार्ति, भास्कर रमन सबको जमानत मिली तो चिदंबरम को क्यों नहीं - कपिल सिब्बल

पी चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने कोर्ट रूम में बहस के दौरान कहा है कि इस मामले की जांच पूरी हो चुकी है. अन्य आरोपियों को भी इस मामले में जमानत मिली है. इंद्राणी और पीटर मुखर्जी को भी बेल मिल चुकी है. भास्कर रमन और कार्ति चिदंबरम भी जमानत पर जा चुके हैं. ऐसे में चिदंबरम को भी जमानत मिलनी चाहिए.

कोर्ट रूम में सीबीआई की बहस पूरी

सीबीआई का कहना है कि पी चिदंबरम ने पद का दुरुपयोग किया और उनके खिलाफ पुख्ता सबूत हैं. हिरासत में पूछताछ जरूरी है. सीबीआई ने कोर्ट रूम में अपनी बहस पूरी कर लही है. अब सीबीआई के दावे पर कपिल सिब्बल बहस कर रह हैं.

यह मामला सीधा-सीधा मनी लॉन्ड्रिंग का है - सीबीआई

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट रूम में बहस के दौरान कहा कि यह मामला सीधा-सीधा मनी लॉन्ड्रिंग का है. चिदंबरम जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. उन्होंने दस्तावेज नहीं दिए हैं. सीबीआई ने कोर्ट में केस की डायरी भी पेश की है.

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने मांगी पी चिदंबरम की 5 दिन की सीबीआई रिमांड

राउज एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता सीबीआई की ओर से कोर्ट रूम में बहस कर रहे हैं. मेहता ने पी चिदंबरम की 5 दिन की सीबीआई रिमांड की मांग की है. उन्होंने तर्क दिया है कि आईएनएक्स मीडिया केस में काफी रकम ट्रांसफर हुई है. साथ ही चिदंबरम जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. एसजी तुषार मेहता ने रिमांड की कॉपी भी कोर्ट में पेश की है.

कोर्ट में सुनवाई जारी, सीबीआई मांगेगी 5 दिन की रिमांड

सीबीआई जज अजय कुमार कोर्ट रूम में पहुंच चुके हैं. आईएनएक्स मीडिया केस की सुनवाई शुरू हो चुकी है. पी चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल बहस कर रहे हैं. दूसरी तरफ सीबीआई 5 दिनों की रिमांड की मांग करने वाली है.

कठघरे में खड़े हैं चिदंबरम

राउज एवेन्यू कोर्ट के बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. पी चिदंबरम कोर्ट रूम में कठघरे में खड़े हुए हैं. सीबीआई के वकील पहले ही कोर्ट रूम में पहुंच चुके हैं. सभी जज का इंतजार कर रहे हैं.

चिदंबरम ने की बेटी और पत्नी से बात

कोर्ट रूम में पहुंचने के बाद पी चिदंबरम ने अपनी बेटी और अपनी पत्नी से बात की. वहीं अपने वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल से भी उन्होंने कुछ देर बात की. फिलहाल सभी कोर्ट रूम में मौजूद हैं और जज अजय कुमार का इंतजार कर रहे हैं.

पी चिदंबरम को सीबीआई ने कोर्ट में पेश किया

सीबीआई पी चिदंबरम को राउज एवेन्यू कोर्ट में लेकर पहुंच गई है. कोर्ट में चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल, विवेक तन्खा और अभिषेक मनु सिंघवी भी मौजूद हैं. चिदंबरम को सीबीआई जज अजय कुमार के सामने पेश किया गया है.

थोड़ी देर में होगी सुनवाई

वरिष्ठ वकील दयान कृष्णन अर्शदीप सिंह खुराना सीबीआई कोर्ट रूम में मौजूद हैं. पी चिदंबरमरम को आईएनएक्स मीडिया केस की सुनवाई के लिए जल्द ही यहां लाया जा रहा है.

सीबीआई कार्यालय के बाहर भारी सुरक्षा बल तैनात

दिल्ली में केंद्रीय जांच ब्यूरो, सीबीआई कार्यालय के बाहर भारी सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया है, जहां से पी चिदंबरम को सुनवाई के लिए अदालत ले जाया जाएगा. पी चिदंबरम को कोर्ट में पेश किया जाना है. विरोध प्रदर्शन और झड़प की आशंका से इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. कार्यालय के बाहर वाटर कैनन भी तैनात हैं.

कुछ ही देर में होगी पेशी

पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम, जिन्हें आईएनएक्स मीडिया मामले के सिलसिले में बुधवार रात गिरफ्तार किया गया था, को पूछताछ के दूसरे दौर के बाद एक विशेष सीबीआई अदालत में पहुंचने वाले हैं. उनकी पत्नी नलिनी और बेटा कार्ति, जो आज सुबह चेन्नई से आए थे, पहले ही कोर्ट पहुंच चुके हैं.

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी पी चिदंबरम की गिरफ्तारी के खिलाफ

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा, कभी-कभी प्रक्रिया गलत होती है. मैं वैधता के बारे में बात नहीं कर रही हूं, लेकिन चिदंबरम एक वरिष्ठ राजनेता हैं, वे एक पूर्व वित्त मंत्री और गृह मंत्री हैं. जिस तरह से उनके मामले को संभाला गया है, वह बहुत निराशाजनक है, यह बहुत बुरा है और साथ ही दुखद भी है.

राकेश आहूजा दिल्ली पुलिस में फिर स्थानांतरित

आईएनएक्स मीडिया मामले में जांच अधिकारी (आईओ), राकेश आहूजा को दिल्ली पुलिस में वापस स्थानांतरित कर दिया गया है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने स्पष्ट किया है कि ईडी में राकेश आहूजा का कार्यकाल 3 सप्ताह से अधिक था.

पी चिदंबरम की गिरफ्तारी पर डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने दिया बयान

सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए पी चिदंबरम पर चेन्नई में डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने कहा, मैंने भी देखा कि कैसे सीबीआई ने दीवार कूदकर उन्हें गिरफ्तार किया, यह भारत के लिए शर्म की बात है, यह राजनीतिक प्रतिशोध है. चिदंबरम ने अग्रिम जमानत मांगी थी लेकिन उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया, यह निंदनीय है.

सीबीआई की पूछताछ खत्म

पी चिदंबरम से सीबीआई की पूछताछ खत्म हो गई है. उनसे सीबीआई के मुख्यालय में 3 घंटे तक पूछताछ की गई. सीबीआई पी चिदंबरम को अधिकारी रिमांड पर लेने के लिए पेपर तैयार कर रही है. पूछताछ में चिदंबरम ने ठीक से जवाब नहीं दिया है. सीबीआई का कहना है कि चिदंबरम पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं. वहीं पी चिदंबरम की टीम ओर से कहा जा रहा है कि वो जमानत के लिए अर्जी देंगे. सीबीआई पी चिदंबरम को कभी भी कोर्ट के सामने पेश कर सकती है.

पत्नी नलिनी चिदंबरम पर भी केस

इस बीच, चिदंबरम की पत्नी नलिनी के खिलाफ भी शारदा चिट-फंड घोटाले में कथित रूप से 1.4 करोड़ रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में सीबीआई द्वारा चार्जशीट दाखिल किया गया था. उन्हें इस वर्ष जनवरी में कलकत्ता उच्च न्यायालय द्वारा गिरफ्तारी से अंतरिम संरक्षण दिया गया था.

इशरत जहां हलफनामा मामला

चिदंबरम के खिलाफ एक शिकायत भी दिल्ली पुलिस के पास लंबित है. जब वह केंद्रीय गृह मंत्री थे तब का एक मामला है जिसमें इशरत जहां मामले के संबंध में एक हलफनामे के कथित हेरफेर का संबंध है.

तमिलनाडु जमीन हड़पने का मामला

आरोप हैं कि तमिलनाडु में चिदंबरम के एक रिश्तेदार ने इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी) के अधिकारियों की मिलीभगत से एक होटल को हड़प लिया था. सीबीआई ने आरोपों की प्रारंभिक जांच शुरू की है.

काले धन का मामला

पिछले नवंबर में, मद्रास उच्च न्यायालय ने आयकर विभाग द्वारा चिदंबरम, उनकी पत्नी नलिनी, पुत्र कार्ति और पुत्रवधु श्रीनिधि कार्ति चिदंबरम के खिलाफ काले धन (अघोषित विदेशी आय और संपत्ति) और कर अधिनियम 2015 के तहत मुकदमा चलाने के मंजूरी आदेशों को रद्द कर दिया. मद्रास हाई कोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है जहां यह लंबित है.

एयर इंडिया की खरीद

पूर्व वित्त मंत्री भी एयर इंडिया खरीद मामले में उलझे हुए हैं. ईडी ने उन्हें 23 अगस्त को पूछताछ के लिए बुलाया था. यह मामला एयर इंडिया के 111 विमानों की खरीद में कथित रूप से गलत काम करने से संबंधित है, जब वह यूपीए सरकार में वित्त मंत्री थे. 42 एयरबस और 24 बोइंग विमान खरीदे जाने के लिए बताए गए थे, लेकिन 111 विमान खरीदे गए. चिदंबरम से ज्यादा खरीद के बारे में पूछताछ की जाएगी.

एयरसेल मैक्सिस का सौदा

एयरसेल-मैक्सिस सौदे में एफआईपीबी की मंजूरी देते समय कथित अनियमितताएं रहीं. चिदंबरम पिता-पुत्र इस मामले में भी संदिग्ध हैं. सीबीआई और ईडी दोनों अलग-अलग कोणों से मामले की जांच कर रहे हैं. सीबीआई इस बात की जांच कर रही है कि 2006 में वित्त मंत्री रहते हुए चिदंबरम ने किस तरह एक विदेशी फर्म को एफआईपीबी की मंजूरी दी, जबकि आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) को इसे करने की अनुमति या अधिकार था. प्रवर्तन निदेशालय एयरसेल-मैक्सिस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रहा है. एयरसेल-मैक्सिस सौदा 3,500 करोड़ रुपये का है.

आईएनएक्स मीडिया केस

जिस मामले में पूर्व वित्त मंत्री को गिरफ्तार किया गया है, उसमें उनके बेटे कार्ति चिदंबरम द्वारा 2007 में आईएनएक्स मीडिया, को अनुमति देने के बदले में कथित रूप से 305 करोड़ रुपये विदेशी चंदे के रूप में प्राप्त करने का मामला शामिल है. इस मामले के संबंध में उनसे कई बार पूछताछ की गई. ईडी ने तर्क दिया कि जिन कंपनियों को पैसा हस्तांतरित किया गया था, वो उनके बेटे द्वारा नियंत्रित की गई. इस मामले में, विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की मंजूरी में अनियमितता का आरोप लगाते हुए सीबीआई ने 15 मई 2017 को एक प्राथमिकी दर्ज की थी.

इन केस में फंसे हुए हैं पी चिदंबरम

पी चिदंबरम पर कई केस की तलवार लटकी हुई है. उनपर आईएनएक्स मीडिया, एयरसेल मेक्सिस डील, एयर इंडिया खरीद, काला धन, तमिलनाडु जमीन कब्जा, इशरत जहां एफिडेविट के मामले दर्ज हैं. उन्हें अभी आईएनएक्स मीडिया मामले में पूछताछ और कोर्ट में पेशी के लिए गिरफ्तार किया गया है.

इंद्राणी मुखर्जी से कभी नहीं हुई मुलाकात: कार्ति चिदंबरम

पी चिदंबरम की गिरफ्तारी पर कहा जा रहा है कि इंद्राणी मुखर्जी के एक बयान के बाद उनपर आईएनएक्स मामले में शिकंजा कसा था. हालांकि उनकी गिरफ्तारी के बाद बेटे कार्ति चिदंबरम ने कहा कि वो इंद्राणी मुखर्जी को नहीं जानते और उनसे कभी मिले भी नहीं है. हालांकि एक बार सीबीआई की पूछताछ के दौरान उनकी इंद्राणी मुखर्जी से मुलाकात हुई थी, लेकिन उनका इंद्राणी की कंपनी से कोई संबंध नहीं है.

पी चिदंबरम के बचाव में उतरे कार्ति चिदंबरम

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम ने कहा है कि उन्होंने कभी इंद्राणी मुखर्जी या पीटर मुखर्जी से मुलाकात नहीं की और नहीं उन्हें आईएनए के बारे में कुछ पता है. कार्ति चिदंबर ने दावा किया ईडी के द्वारा 20 बार उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया गया और हर बार वह पेश हुए. कार्ति चिदंबरम ने कहा कि सरकार द्वारा उनके पिता के खिलाफ गलत आरोप लगाए जा रहे हैं.

अभिषेक मनु सिंघवी करेंगे पी चिदंबरम की पैरवी

सीबीआई की टीम दोपहर 2 बजे से 4 बजे के बीच पी चिदंबरम को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश करेगी. दिल्ली पुलिस, स्पेशल ब्रांच के अधिकारी सादी वर्दी में अदालत के आसपास ही मौजूद रहेंगे.सूत्रों के मुताबिक पी चिदंबरम की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी में अदालत में पैरवी करेंग और सीबीआई का पक्ष अर्टानी जनरल कोर्ट में रखेंगे.

आज दोपहर 2 बजे होगी राउस एवेन्यू कोर्ट में पेशी

सीबीआई ने बुधवार देर रात पूर्व वित्त और गृह मंत्री पी चिदंबरम को नाटकीय अंदाज में उनके घर से गिरफ्तार कर लिया. सीबीआई और ईडी उनसे आईएनएक्स मामले में पूछताछ कर रही है. उन्हें आज सीबीआई की स्पेशल राउस एवेन्यू कोर्ट में दोपहर 2 बजे पेश किया जाएगा.

कपिल सिब्बल ने कहा-

कानूनी बिरादरी के सदस्यों के रूप में यह हमारे लिए बहुत चिंता का विषय है, यह नागरिकों के लिए भी चिंता का विषय होना चाहिए. हम सब चाहते थे कि एक सुनवाई हो, पीठासीन न्यायाधीश ने यह कहने के बजाय यह कहा कि मैं सीजेआई को फाइल भेज रहा हूं. क्या कोई नागरिक सुनवाई का हकदार नहीं है?

कार्ति चिदंबरम ने कहा- मैं जंतर मंतर पर करूंगा विरोध

पी चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद उनके बेटे कार्ति चिदंबरम भी दिल्ली पहुंचे. उन्होंने कहा कि ये केवल मेरे पिता पर नहीं बल्कि कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा जा रहा है. मैं जंतर मंतर जाकर विरोध करूंगा. उन्होंने दावा किया कि वो पहले कभी इंद्राणी मुखर्जी से नहीं मिले हैं. केवल एक बार सीबीई की पूछताछ के दौरान उन्होंने मुलाकात की थी.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App