नई दिल्लीः पूर्व वित्त मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने आम बजट 2018-19 को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधा है. उन्होंने हमला बोलते हुए कहा कि जेटली राजकोषीय मजबूती की परीक्षा में फेल हुए हैं इसके परिणाम भी जल्द सामने आएंगे. उन्होंने कहा कि 2017-18 के लिए राजकोषीय घाटे का लक्ष्य सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 3.2 फीसदी रखा गया था लेकिन इसके 3.5 प्रतिशत पर पहुंचने का अनुमान है.

उन्होंने कहा कि मेडिकल हेल्डकेयर पर हुईं घोषणाओं को जुमला बताया. उन्होंने कहा कि बजट में कुछ भी ऐसा नहीं है जो निजी निवेश को बढ़ावा दे और न ही टैक्स भरने वालों को कोई राहत दी गई है. पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने वित्त मंत्री पर आम बजट को लेकर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने जेटली को राजकोषीय मजबूती की परीक्षा में फेल बताते हुए कहा इसके परिणाम भी जल्द लोगों के सामने आएंगे.

बता दें कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को आम बजट 2018 संसद भवन में पेश किया. बजट में सरकार ने हर वर्ग के लोगों को लुभाने की कोशिश की है. गरीब से लेकर राष्ट्रपति के वेतन तक जेटली के पिटारे सबके लिए कुछ ना कुछ निकला है. हालांकि मिडिल क्लास को मोदी सरकार ने बहुत राहत नहीं दी है जिसको लेकर लोगों ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा है. वहीं पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने भी इसे लेकर जेटली पर निशाना साधा है.

यह भी पढ़ें- बजट 2018: अरुण जेटली पर बरसे अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया, कहा- दिल्ली के साथ हुआ सौतेला व्यवहार

Union Budget 2018: जानिए क्या हुआ सस्ता और क्या महंगा, देखें पूरी लिस्ट

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App