नई दिल्ली. असम में भीड़ ने चार लोगों को गाय चोर समझकर बुरी तरह पीटा. भीड़ की पिटाई ने एक युवक की जान ले ली और तीन की हालत गंभीर बनी हुई है. पुलिस के मुताबिक, घटना डिप्लुंगा टी एस्टेट की है जो कि राज्य की राजधानी से करीब 230 किमी दूर है. इस घटना को बुधवार को अंजाम दिया गया.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, सुटेया पुलिस थाने के अधिकारी ने बताया कि सुटेया के चार लोग एक टैंपो से जा रहे थे. तभी ग्रामीणों ने उन पर गाय चोर होने का आरोप लगाकर हमला कर दिया. पुलिस ने बताया कि टैंपो वैन से चोरी की दो गाय बरामद की गई हैं. ग्रामीणों की पकड़ से टैंपो चालक निकल भागा लेकिन चार लोग पकड़ में आ गए. करीब 20 लोगों की भीड़ ने उन चारों लोगों पर हमला कर दिया.

किसी ने इस घटना का वीडियो भी बना लिया जोकि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वीडियो में देखा जा सकता है कि पीड़ित हाथ जोड़कर जमीन पर बैठे हैं और भीड़ से रहम की गुहार लगा रहे हैं. इसके बावजूद भीड़ उन्हें पीटे जा रही है. इनमें से एक पीड़ित ने स्थानीय न्यूज चैनल को बताया कि वे बुधवार सुबह डिप्लोंगा चाय बागान से सुअर खरीदने जा रहे थे तभी भीड़ ने लोहे की रॉ़ड और डंडे लेकर हमें रुकवाया और गाय चोर का शोर मचाकर हमला कर दिया.

हालांकि, पुलिस भी मान रही है कि उन लोगों ने गाय चुराई थीं और उन्हें टैंपो वैन में लादकर ले जा रहे थे. पुलिस ने उन लोगों के खिलाफ गाय चोरी का मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस अधिकारी ने कहा कि हमारे पास ऐसी कोई जानकारी नहीं है कि वे लोग सूअर खरीदने जा रहे थे. वे अभी घायल हैं इसलिए पुलिस बयान दर्ज नहीं कर पाई है. चारों युवक आदिवासी समुदाय के बताए जा रहे हैं. 

वीके सिंह बोले- मॉब लिंचिंग की समस्या सिर्फ पश्चिमी उत्तर प्रदेश में नहीं बल्कि पूरे भारत में है

पीएम नरेंद्र मोदी बोले- जघन्य अपराध है मॉब लिंचिंग, वजह कुछ भी हो

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App