मुंबई: मुंबई की वर्सोवा पुलिस को 28 अप्रैल को बीच पर बोरी में एक युवती की लाश मिलने की सूचना मिली। मौके पर पहुची पुलिस ने जब बोरी को खोला तो अंदर ब्लू रंग की प्लास्टिक में लपेटी हुई एक युवती की लाश थी. युवती के गले को इंटरनेट के केबल से कसा गया था जबकि हाथ पैर को भी इंटरनेट के केबल से मोड़कर बांध दिया गया था. इस सब को देखने के बाद पुलिस को यकीन हो गया कि हत्या करने के बाद लाश को ठिकाने लगाने के मकसद से किसी न किसी खाड़ी में इसे फेका गया होगा जो बाद में समंदर के रास्ते बहकर वर्सोवा बीच आया है.

अधूरा रह गया डॉक्टर बनने का सपना

पुलिस ने मुम्बई और उसके आसपास के थानों में मिसिंग लड़कियों की डिटेल निकालनी शुरू की तो पता चला कि गोरेगाव के प्रेम नगर इलाके में रहने वाली सोनम शुक्ला पिछले 3 दिन से लापता है. उसकी गुमशुदगी की शिकायत भी गोरेगाव पुलिस थाने में दर्ज है. पुलिस ने गोरेगाव थाने से संपर्क कर जब घरवालों को शिनाख्त के लिए बुलाया तो लाश पूरी तरह से सड़ गयी थी ऐसे में पहचानना मुश्किल था. लेकिन कपडे और हाथ पैर की अंगूठी से लड़की की शिनाख्त सोनम शुक्ला के तौर पर हुई, जो NEET के एग्जाम की तैयारी कर रही थी उसे एक डॉक्टर बनना था।

पुलिस ने सबसे पहले शुक्ला परिवार पर ही शक की सुई घुमाई और 12 घण्टे तक शुक्ला परिवार के हर सदस्य को थाने में ले जाकर पूछताछ की लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा. इसी बीच मृतक की बड़ी बहन श्रीजी शुक्ला को एक वाक्या याद आया जिसमें उन्होंने बताया कि जब उसकी छोटी बहन सोनम शुक्ला मिसिंग हुई तो उसके एक दोस्त ने बताया कि इलाके में ही रहने वाला मोहम्मद शाहजेब अंसारी जिसकी बेकरी की शॉप है वहा उसकी बहन बेकरी प्रोडक्ट लेने के लिए आया जाया करती थी. इसी बीच शाहजेब अंसारी ने सोनम का नम्बर किसी तरह हासिल कर लिया। पिछले कुछ महीने से उसने फोंन कर सोनम से बात करने की कोशिश भी की ,,हालांकि सोनम ने उसे कभी बहुत ज्यादा लिफ्ट नही दी ,सिर्फ पड़ोसी और मोहल्ले के नाते जैसे सबसे सामान्य रिश्ते थे. इसी तरह सोनम के रिश्ते मोहम्मद शाहजेब अंसारी के साथ भी थे.

इसके साथ ही उनकी बहन ने बताया कि 25 अप्रैल की ही रात को शाहजेब अन्सारी अपने एक दोस्त की स्कूटी जल्दबाजी में मांग कर लाया था और बाद में स्कूटी पर ही एक बोरी बांधकर लेकर गया था. स्कूटी चलाते वक़्त वो बहुत हड़बड़ी में था. बाद में जब श्रीजी की बहन सोनम की लाश वेर्सवामे मिली तो श्रीजी को क्लिक हुआ चूंकि उसके पहले भी वो शाहजेब के पास गई थी. उसने शाहजेब से पुछा कि क्या सोनम यहा आई थी लेकिन उसने मना कर दिया। सोनम की बहन ने बताया कि उसके हाथ की दो उंगली में चोट के निशान थे जिसे श्रीजी ने नोटिस कर उसके बारे में भी पूछा था लेकिंन आरोपि ने उसे बाइक से चोट लगने की बात कहकर टाल दिया था

लेकिन लाश मिलने के बाद श्रीजी को क्लिक हुआ तो उसने पुलिस को इसकी सूचना दी. शक की बुनियाद पर पुलिस शाहजेब के घर पहुची तो पता चला की वो तो गाँव चला गया है. हालांकि उसका टिकट पहले से ही निकला था. पुलिस को शक हुआ कि शाहजेब ही इस सब के पीछे लिप्त है. इसलिए पुलिस ने शाहजेब के रिश्तेदारों से कहकर उसे मुंबई वापस बुलाया और उसे हिरासत में ले लिया। पूछताछ के दौरान शाहजेब ने पुलिस ने सामने अपना गुनाह कबूला और बताया कि उसने ही हत्या कर लाश को खाड़ी में फेंका था.

लेकिन इस सब के बीच बड़ा सवाल ये था कि आखिर सोनम शुक्ला कि हत्या क्यों कि गयी? 19 साल की एक होनहार छात्रा जो नीट की तैयारी कर रही थी उसकी ऐसी निर्मम हत्या के पीछे क्या वजह हो सकती है. इस मामलें में शुक्ला के परिवार ने पुलिस को बेहद चौक़ाने वाली जानकारी मिली…

परिवार ने किया चौकाने वाला खुलासा

श्रीकांत शुक्ला मृतक के पिता उसकी माँ औऱ बड़ी बहन श्रीजी ने बताया कि दरअसल जहां पर सोनम ट्यूशन जाती थी. उसी रास्ते पर आरोपी की बेकरी और उसका घर भी है. जिस तरह सभी लोग बेकरी की दुकान पर समान लेने जाते है, ठीक उसी तरह सोनम भी आरोपी की दुकान में गई थी. इसी बीच जब कुछ दिनों तक ऐसा सिलसिला चला तो आरोपी ने सोनम से दोस्ती करनी चाही। परिवार वालों ने बताया कि आरोपी उसे एक तरफा प्यार करने लगा, उसने पिछले कुछ महीनों में कई बार सोनम को फोंन पर बात करने की भी कोशिश कि लेकिन सोनम उसे टाल देती थी. इसी बीच 25 अप्रैल को उसने जब सोनम को ट्यूशन से अकेले आते देखा तो उसे बुलाया ,,और कुछ बात करनी है कहकर घर मे ले गया चूंकि ईद आ रही थी तो आरोपी के घर के बाकि लोग खरीद दारी करने मार्केट गए थे…

आरोपी ने सोनम को कन्विंस करने की बहुत कोशिश की. परिवार का दावा है कि आरोपी सोनम को कन्विंस कर भागने की फिराक में था लेकिन सोनम ने उसे मना कर दिया। जब सोनम ने आरोपी की बात नहीं मानी तो शाहजेब ने इंटरनेट के केबल से पहले उसका गला घोंटा फिर उसके हाथ पैर को भी केबल से लपेट दिया ,और बगल की दुकान से दो बोरी खरीदी और पहले लाश प्लास्टिक में डाला फिर बोरी में और उसे दोस्त की स्कूटी से मलाड मार्वे की खाड़ी में फेक दिया जो बादमे वरसोवा में मिली…

घटना की प्लानिंग पहले से कि गई थी- मृतक के परिजन

इस पूरी घटना से जुड़ा सच बाहर आने के बाद अब घर वाले स्प्ष्ट आरोप लगा रहे है कि पूरा मामला लव जिहाद से जुड़ा है. सोनम जैसी पढ़ाकू लड़की ऐसे कदम उठाने के बारे मे सोच भी नही सकती। उसके पिता खुद टैक्सी ड्राइवर है. वे किराए के घर मे रहते है. उसे पिता के सपनो को साकार करना था और डॉक्टर बनना था. परिवार वालों ने आरोप लगाया कि उनकी लड़की को जबरन आरोपी ने लव जिहाद के तहत फसाने की कोशिश की और नाकाम रहने पर उसकी हत्या कर दी. साथ ही परिवार का आरोप है कि ये सब पहले से सुनियोजित था इसलिए हत्या से पहले ही आरोपिने गाँव जाने का टिकट निकाल लिया था और दूसरे ही दिन वो गाव भाग गया था.

शव की हो रही मेडिकल जांच

इस पूरी घटना पर पुलिस का कहना है कि हत्या हुई है और हत्यारा भी गिरफ्तार है. उन्होंने बताया कि उसने गुनाह कबूल किया है लेकिन हत्या की असली वजह क्या है वो भी नही समझ नहीं आ रही है. साथ ही पुलिस ने बताया कि लव जिहाद जैसी बातें अभी सामने नही आई है. उन्होंने बताया कि मामलें की जांच कर रहे है। पुलिस ने लड़की के प्राइवेट पार्ट के नमूने भी जांच के लिए भेजे है ताकि पता लगाया जा सके कि उसके साथ कोई सेक्सुअल असॉल्ट तो नही हुआ है…

यह भी पढ़े:

गुरुग्राम के मानेसर में भीषण आग, मौके पर दमकल की 35 गाड़ियां

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर