नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाली पोलैंड की भाला फेंक खिलाड़ी मारिया एंड्रेजिक ने दिल जीतने वाला काम किया है। मारिया ने आठ महीने के पोलिश लड़के की दिल की सर्जरी के लिए 2020 ओलंपिक में जीते अपने रजत पदक की नीलामी की। पोलिश स्टोर श्रृंखला जब्का पोलस्का ने 1.25 लाख डॉलर की बोली के साथ नीलामी जीती। हालांकि, नीलामी जीतने वाली जब्का पोलस्का ने मारिया को उनका पदक लौटा दिया। 25 साल की मारिया 2016 में ओलंपिक पदक से दो सेंटीमीटर से चूक गईं थी। हालांकि, उन्होंने टोक्यो में रजत जीतकर अपनी पदक जीतने की चाहत को पूरा कर लिया है। मारिया ने टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में 64.61 मीटर भाला फेंककर रजत पदक हासिल किया था। केवल चीन के लियू शियिंग ने उनसे ज्यादा 66.34 मीटर भाला फेंककर स्वर्ण पदक जीता था। बता दें मारिया 2018 में बोन कैंसर से उबर चुकी हैं।
पदक की नीलामी को लेकर मारिया ने द टाइम्स से कहा, “एक पदक का सही मूल्य हमेशा दिल में रहता है। पदक केवल एक वस्तु है लेकिन यह दूसरों के लिए बहुत महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। यह रजत पदक स्टोर में धूल जमा करने के बजाय जीवन बचा सकता है। इसलिए मैंने बीमार बच्चों की मदद के लिए इसे नीलाम करने का फैसला किया है।”

आठ महीने के मिलोसजेक की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में होगी सर्जरी मारिया ने जिस छोटे लड़के के लिए अपना पदक नीलम किया था, उसका नाम मिलोसजेक है। आठ महीने के छोटे बच्चे मिलोसजेक की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में सर्जरी होनी है। दिल की बीमारी से जूझ रहे मिलोसजेक के परिवार ने सर्जरी के लिए एक फंडरेजिंग मुहीम की शुरुआत की, जिसके तहत 90 प्रतिशत पैसा एकत्र कर लिया गया है। इसमें मारिया ने $125,000 का अहम योगदान दिया है।

Sonia Gandhi Meet Opposition parties : सोनिया गांधी आज करेंगी विपक्षी दलों की बैठक, अरविंद केजरीवाल की आप को नहीं बुलाया

Bhupendra Yadav Attack Congress : जन आशीर्वाद यात्रा: भूपेंद्र यादव बोले गहलोत और पायलट के बीच कुर्सी की लड़ाई में बर्बाद हो रहा राजस्थान

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर