नई दिल्ली. NRC Documents Needed: एनआरसी यानी कि नैशनल रजिस्टर सिटिजन (NRC) यह केवल अभी असम में लागू किया गया है. असम में एनआरसी (NRC) लागू इसलिए किया गया है ताकि अवैध रुप से रह रहे प्रवासियों को बाहर निकाला जा सके. आपको बता दें कि असम में 1983 से पहले ही बाहरी लोगों के खिलाफ आवाज उठ रही थी. इसके पीछे का कारण अंग्रेजो के समय में असम में अधिकतर मजदूर आकर बस गये जिसके कारण वहां के लोगों का रोजगार छिन गया. उससे पहले आपको बता दें कि 1940 में अहोम दो भागों में बंटा हुआ था, लेकिन 1967 में दोनों धड़े एक साथ आ गये और जिसे ऑल असम स्टूडेंट्स एसोसिएशन के नाम से जाना जाता था, लेकिन बाद में इसका नाम बदलकर ऑल असम स्टूडेंट यूनियन या आसू कर दिया गया.

बाहरी लोगों की वजह से असम में असमिया लोगों की संख्या लगातार कम हो रही थी. जिसके बाद संगठन के नेताओं ने बाहरी लोगों को राज्य से बाहर जानें की मांग की और शर्त रखी की जब तक लोगों बाहरी लोगों का नाम वोटर लिस्ट से न हटाया जाये तबतक असम में कोई चुनाव न कराया जाए. इसके अलावा राज्य के लोगों ने शर्त रखी कि जो लोग 1963 के बाद आये हैं उनको उनके मूल जगह पर भेजा जाएगा.

लेकिन जब केंद्र सरकार ने 1983 में असम विधासभा चुनाव कराने का फैसला लिया. जहां पर असमिया लोगों की वर्चस्व ज्यादा था वहां पर 3 प्रतिशत से भी कम की वोटिंग हुई. जिसके बाद असम राज्य में हिंसा भड़क गई. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस हिंसा में लगभग 3,000 से ज्यादा लोग मारे गये.

also read: Citizenship Amendment Act Protest: कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी का बयान- पश्चिम बंगाल में सांप्रदायिक राजनीति कर रहीं सीएम ममता बनर्जी

JNU Student Protest Against Administration: जेएनयू में फीस बढ़ोतरी को लेकर भारी हंगामा, सड़क पर उतरे हजारों स्टूडेंट, कन्वोकेशन सेरेमनी का बायकॉट, कैंपस में चप्पे-चप्पे पर पुलिस

1983 हिंसा के बाद दोनों पक्षों यानी कि आसू और तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी सरकार और आंदोलन के नेताओं के बीच समझौता हुआ. इस समझौते को असम समझौता के नाम से जाना जाता है. इस समझौते के तहत जितने लोग 1971 के बाद असम आये थे उनको बाहर भेज दिया जाएगा. तभी से राज्य में एनआरसी लिस्ट जारी की जाती है.

एनआरसी अगर पूरे देश में लागू होती है तो इन डॉक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ेगी : NRC Documents Needed 

  1. 1951 एनआरसी या
  2. 24 मार्च 1971 का वोटर रजिस्टर या
  3. जमीन की रजिस्ट्री का कागजात या
  4. नागरिकता प्रमाण पत्र या
  5. शरणार्थी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट या
  6. पासपोर्ट या
  7. एलआईसी या
  8. सरकार द्वारा जारी किया गया कोई भी लाइसेंस सर्टिफिकेट या
  9. बैंक, पोस्ट ऑफिस अकाउंट्स या
  10. जन्म प्रमाण पत्र
  11. बोर्ड, यूनिवर्सिटी सर्टिफिकेट या
  12. कोर्ट रिकॉर्ड या प्रोसेस जैसे डॉक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ेगी.

Deepika Padukone Chhapaak Promotion: दिल्ली में CAA विरोध प्रदर्शन के कारण दीपिका पादुकोण और मेघना गुलजार ने फिल्म छपाक का प्रमोशन किया रद्द

Delhi CAA Protest Internet Suspend: नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में दिल्ली के कई इलाकों में धारा 144 लागू, वॉयस कॉल, एसएमएस और इंटरनेट बंद

Priyanka Chopra On CAA Protest: फरहान अख्तर, आलिया भट्ट और राधिका आप्ते के बाद प्रियंका चोपड़ा ने भी किया छात्रों का समर्थन,कहा- हर आवाज गिनी जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App