नई दिल्ली. अपनी मनमानियों से बाज नहीं आ रहे उत्तर कोरिया ने फिर एक बैलिस्टिक मिसाइल दागी है. मंगलवार आधी रात को दक्षिण कोरिया के मिलिट्री अधिकारियों ने इसकी पुष्टी की. यह मिसाइल जापान सागर में दागी गई है. वहीं अमेरिकी मिलिट्री का कहना है कि वह इस मिसाइल लॉन्च के बारे में जानकारियां जुटा रहे हैं. बता दें कि उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने इससे पहले सितंबर में भी ऐसे ही परीक्षण को अंजाम दिया था. वहीं वैश्विक स्तर पर चेतावनी के रूप में उभर रहा उत्तर कोरिया अपनी मिसाइलों को और बेहतर बनाने के लिए अबतक 22 मिसाइलों के परीक्षण कर चुका है.

किम जोंग की हरकतों से सबसे अधिक पीड़ित दक्षिण कोरिया के अनुसार उत्तर कोरिया साल 2018 तक न्यूक्लीयर मिसाइल लॉन्च करने में सक्षम हो जाएगा. इसके अलावा अमेरिका का भी मानना है कि साल 2018 तक उत्तर कोरिया ऐसी बड़ी और खतरनाक मिसाइलें बनाने में सक्षम हो सकता है जो अमेरिका  तक मार कर सकें. किसी भी देश के साथ बेहतर संबंध न रख पाने वाला नार्थ कोरिया का तानाशाह दिन प्रति दिन और ताकतवर बनने की कोशिश में लगा हुआ है.

घटना के कुछ ही देर बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हम हालातों के संभाल लेंगे. ट्रंप ने कहा कि “जैसा कि आपने शायद सुना होगा और कुछ ने रिपोर्ट भी की है कि कुछ समय पहले उत्तर कोरिया की ओर से मिसाइल दागी गई है. हम बस इतना कहना चाहेंगे कि हम इसका ध्यान रखेंगे. मेरे साथ कमरे में रक्षा मंत्री मेटिस भी थे. इस पर हमारी लंबी चर्चा हुई है. यह एक ऐसी स्थिति है जिसे हम संभाल लेंगे.”वहीं जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने मामले को लेकर मंत्रिमंडल की आपात बैठक बुलाई है और इसपर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि नार्थ कोरिया लगातार उकसाने वाली हरकते कर रहा है.

डोनाल्ड ट्रंप ने नॉर्थ कोरिया को घोषित किया आतंकवाद प्रायोजित देश

नॉर्थ कोरिया ने अगर जापान पर हमला किया तो ऐसे में भारत क्या करेगा ?

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर