पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जहरीली शराब से हुई मौतों के बाद पूरे देश में पूर्ण शराबबंदी की मांग की है. सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा कि बिहार में 2016 में हुई शराबबंदी पूरी तरह से कारगर साबित हुई है. इसके बाद उन्होंने कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों से अपने राज्य में शराब को बैन करने की बात कही थी. ताकि गरीब परिवारों को शराब के कहर से बचाया जा सके.

सीएम नीतीश ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत से एक बार फिर अपील की कि वे अपने राज्यों में शराब बेचने और खरीदने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दें. साथ ही नीतीश कुमार ने बताया कि उन्होंने 2016 में उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से भी शराब बैन करने की अपील की थी. इसके बाद जब योगी आदित्यनाथ जब मुख्यमंत्री बने तो उनसे भी इस बारे में चर्चा की थी.

नीतीश कुमार ने कहा कि कई राज्यों में सामाजिक संगठनों की महिलाएं और पुरुष शराब के खिलाफ अभियान चला रहे हैं. झारखंड, छत्तीसगढ़ और उड़ीसा में महिलाओं ने शराब के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. अब जब जहरीली शराब से कई जानें चली गई हैं, तो सभी जगहों पर शराब को पूरी तरह से बैन कर देना चाहिए.
Prashant Kishor Narendra Modi Prime Minister: प्रशांत किशोर का दावा, लोकसभा चुनाव 2019 जीतकर फिर प्रधानमंत्री बनेंगे नरेंद्र मोदी
Sushma Swaraj on Hindi in Abu Dhabi: अबू धाबी की अदालतों में हिंदी को आधिकारिक भाषाओं में शामिल करने पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जताया आभार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App