पटना. बिहार में इंसेफलाइटिस चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों की संख्या 181 तक पहुंच चुकी है. देश की संसद में भी इंसेफलाइटिस से हो रही मासूमों की मौत का मुद्दा गूंज चुका है. बिहार की नीतीश कुमार सरकार लेकिन सत्ता के अहंकार में चूर नजर आ रही है. बिहार में इंसेफलाइटिस से हुई मौतों और अस्पतालों में बदइंताजामी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे 39 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर उनके ऊपर एफआईआर दर्ज की गई है. बता दें कि ये सभी प्रदर्शनकारी उन बच्चों के रिश्तेदार थे जिनकी मौत इंसेफलाइटिस की वजह से हुई है. बिहार का मुजफ्फरपुर इंसेफलाइटिस से सबसे अधिक प्रभावित हुआ है. मुजफ्फरपुर में अब तक 131 बच्चों की मौत हो चुकी है. मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच अस्पताल में ही केवल 111 बच्चों की मौत हो चुकी है वहीं केजरीवाल अस्पताल में 20 बच्चों की मौत हुई है.

नीतीश कुमार सरकार ने अपने खिलाफ प्रदर्शन कर रहे 39 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज करवाई है. ये सभी लोग बिहार में इंसेफलाइटिस से हुई मौतों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे. बता दें कि बिहार में इंसेफलाइटिस के कहर से अब तक 181 बच्चों की मौत हो चुकी है. सरकारी अस्पतालों की बदहाली की कई रिपोर्ट सामने आ चुकी है. नीतीश कुमार सरकार के इंतजामों पर सवाल खड़े हो रहे हैं. ऐसे में विरोध कर रहे लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराना सरकार की तरफ से बेहद कड़ा फैसला है. चमकी बुखार से मरे बच्चों के परिजन सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे. इन लोगों को पुलिस ने हिरासत में लेकर इन पर एफआईआर दर्ज कर दी है. बताया जा रहा है कि इन लोगों में अधिकांश लोग उन बच्चों के परिजन हैं जिनकी मौत चमकी बुखार की वजह से हो चुकी है.

बिहार में अपनी सुरक्षा के लिए डॉक्टरों ने किया खुद से इंतजाम

अभी हाल ही में पश्चिम बंगाल में मरीज की मौत के बाद उसके परिजनों ने डॉक्टरों के साथ हाथापाई की थी. जिसके विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने देशव्यापी हड़ताल बुलाई थी. इस हड़ताल में देश भर के डॉक्टर शामिल हुए थे. मुजफ्फरपुर, जहां इंसेफलाइटिस से सबसे ज्यादा 131 बच्चों की मौत हुई है वहां के डॉक्टर भी अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं. मुजफ्फरपुर के डॉक्टरों ने आपस में पैसे जमा कर के सुरक्षा के लिए क्विक रिसपोंस टीम को हायर किया है. लगभग 60 डॉक्टरों ने मिलकर इस टीम को हायर किया है. इस टीम के एक सुरक्षाकर्मी ने कहा कि हम शहर में 3 जगहों पर तैनात हैं. हमारे पास 15-20 बाइक भी है. हम डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए चाक चौबंद हैं.

Bihar Encephalitis Death Latest updates: बिहार में इंसेफलाइटिस चमकी बुखार से अब तक 156 बच्चों की मौत, पिछले 24 घंटे में 17 मासूमों ने तोड़ा दम

Supreme Court on Bihar Encephalitis Deaths: बिहार में चमकी बुखार से हुई मौतों पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, राज्य सरकार से 7 दिन में मांगी रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App