नई दिल्ली: कोरोना वायरस की वजह से देश में लॉकडाउन का दूसरा चरण चल रहा है. 3 मई तक लॉकडाउन को बढ़ाया गया है लेकिन लोगों के मन में अब से सवाल उठने लगा है कि क्या 3 मई के बाद भी लॉकडाउन खुलेगा या नहीं? इसका जवाब एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी है. इंडियन एक्सप्रेस के साथ बातचीत में डॉ वीके पॉल ने कहा कि सरकार के लिए असली चुनौती मई-जून में शुरू होगी. डॉ पॉल ने कहा कि अगर लॉकडाउन खुलता है कि तो संभवत: कोरोना वायरस को फैलने में मदद करेगा क्योंकि लोग एक दूसरे से मिलने लगेंगे. अगर ऐसा हुआ तो सरकार की कोरोना को स्टेज 3 तक पहुंचने में रोकने की कोशिश बेकार चली जाएगी और कम्यूनल स्प्रेड होना शुरू हो जाएगा. अगर ऐसा हुआ तो भारत में हालत बद से बदतर हो जाएगा.

डॉ पॉल ने बड़ा आर्थिक नुकसान और मुश्किल परिस्थितियों का सामना करके कम्यूनल स्प्रेड को रोका है, अगर अब लॉकडाउन खुलता है तो लॉकडाउन की वजह से जो फायदा भारत को अबतक मिला है वो खत्म हो जाएगा और इतने दिनों की मेहनत बेकार हो जाएगी. उन्होंने कहा कि सरकार को सुनिश्चित करना होगा कि कोरोना को लेकर देश के सामने कोई और बड़ा संकट ना खड़ा हो जाए. उन्होंने कहा कि मई और जून कोरोना को रोकने के लिए भारत के संकल्प का असली परीक्षण होगा.

गौरतलब है कि भारत में लॉकडाउन का फायदा साफ देखने को मिल रहा है. मार्च के मध्य में लॉकडाउन के शुरूआती चरण में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या तीन दिन में दोगुनी हो रही थी. मार्च के अंत तक कोरोना मरीजों की संख्या दोगुनी होने में पांच दिन लगने लगे और अब कोरोना मरीजों की संख्या दोगुनी होने में आठ दिन का समय लग रहा है. आने वाले दिनों में स्थिति और बेहतर होने की उम्मीद है. विशेषज्ञों का कहना है कि आने वाले दिनों में ये संख्या 10 दिन के ऊपर जा सकती है.

ITV Network Corona Coverage: कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हॉटस्पॉट से ग्रीन जोन तक आईटीवी नेटवर्क ने पूरी की 2 हजार किलोमीटर की यात्रा

Earth Anthem Launch on Earth Day: बुधवार को अर्थ डे की गोल्डन जुबली के मौके पर लॉन्च होगा अर्थ एंथम, कोरोना से लड़ने के लिए दुनियाभर को करेगा प्रेरित

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर