नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए संकटग्रस्त पंजाब और महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक ऑफ स्पीडी रेजोल्यूशन के जमाकर्ताओं को आश्वासन दिया कि आरबीआई इस मामले को देख रहा है और आवश्यकतानुसार उचित कार्रवाई करेगा. प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले नरीमन प्वाइंट पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भाजपा कार्यालय पहुंचीं और उस समय पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी (पीएमसी) बैंक के जमाकर्ता पार्टी कार्यालय के बाहर विरोध कर रहे थे. इसके बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी बैंक के जमाकर्ताओं के बीच एक बैठक हुई. निर्मला सीतारमण ने बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा, वित्त मंत्रालय का सीधे पीएमसी बैंक मामले से कोई लेना-देना नहीं है क्योंकि आरबीआई इसका नियामक है. लेकिन मेरी ओर से, मैंने अपने मंत्रालय के सचिवों को ग्रामीण विकास मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय के साथ काम करने के लिए कहा है ताकि पता लगाया जा सके कि क्या हो रहा है.

उन्होंने कहा, मैंने मंत्रालय के सचिवों से इसका विस्तार से अध्ययन करने के लिए कहा है कि क्या हो रहा है. कमियों और जो हुआ उसको समझने के लिए आरबीआई के प्रतिनिधि भी होंगे. वे इसलिए भी होंगे, यदि आवश्यक हो, तो उन तरीकों को देखें जिनमें संबंधित अधिनियमों में संशोधन करना होगा. उन्होंने कहा, अगर संशोधन हमें दुर्भावनाओं पर अंकुश लगाने, उन्हें बेहतर विनियमित करने और हमें नियामक को बेहतर बनाने में हमारी मदद करने जा रहे हैं तो आरबीआई को बता दें कि हम इसे करना चाहते हैं.

वित्त मंत्री ने कहा, जो समूह इस पीएमसी बैंक मामले को देखेगा, उसके पास वित्त मंत्रालय के 2 सचिव होंगे. बैठक में आरबीआई के एक डिप्टी गवर्नर स्तर के अधिकारी भी होंगे, ताकि भविष्य में ऐसी चीजों को रोकने और नियामक को बेहतर तरीके से सशक्त बनाने के लिए हम आवश्यक विधायी कदम उठाए. इन उद्देश्यों के साथ यह समूह काम कर रहा होगा. ताकि यदि आवश्यक हो, तो संसद के आगामी शीतकालीन सत्र में ही हम किसी भी विनियमन, किसी भी संशोधन को लाएंगे, जिसकी आवश्यकता हो सकती है.

Also read, ये भी पढ़ें: Manjinder Singh Sirsa On PMC Bank Crisis: पीएमसी बैंक संकट को लेकर आरबीआई पर भड़के अकाली दल नेता मनजिंदर सिंह सिरसा, कहा- किसी राह चलते को नहीं सरकार को दिया था पैसा, करो वापस

PMC Bank Crisis Withdrawal Limit Increases: आरबीआई ने पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक से नगद निकासी की सीमा बढ़ाकर 25,000 रुपये की, पीएमसी बैंक के 70 प्रतिशत खाताधारक निकाल सकेंगे पूरा पैसा

Customers Complaint Against PMC Bank Officials: पीएमसी पर फटा खाताधारकों का गुस्सा, पंजाब और महाराष्ट्र बैंक के चेयरमैन समेत 14 लोगों पर केस दर्ज, पासपोर्ट सीज की मांग

RBI Restriction PMC Bank 1000 Cash Withdrawals: पंजाब और महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक खाता से 6 महीने में सिर्फ 1 हजार निकलेंगे, लोगों ने पूछा- कैसे करें खाना, पढ़ाई, इलाज, शादी का खर्च

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App