नई दिल्ली. अमेरिका के जाने माने अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने भारत की ओर से आतंकवाद के खिलाफ उठाए जाने वाले सख्त कदमों को लेकर एक रिपोर्ट तैयार की है. जिसमें साफ तौर पर कहा गया है कि भारत में आतंकि संगठनों में कमी आई है और इसका श्रेय भारतीय सेना को जाता है क्योंकि सेना ने कश्मीर घाटी में मानो आतंकवाद की कमर ही तोड़ कर रख दी है. साथ ही इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि भारत की ओर से बराबर बने रहे दबाव के चलते पाकिस्तान भी अब आतंकियों की पहले जैसी मदद नहीं कर पा रहा है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि कश्मीर में 20 साल पहले 1000 से ज्यादा रही आतंकियों की संख्या अब घटकर केवल 250 ही रह गई है. भारतीय सुरक्षाबलों का प्रभाव ऐसा है कि कश्मीर घाटी में आतंकी ज्यादा दिनों तक जीवित नहीं रह पाते हैं.

इतना ही नहीं न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि बहुत सालों पहले कश्मीर में अस्थिरता लाने के लिए हजारों पाकिस्तान ने आतंकियों को भारत भेजा था. जिसके बाद काफी खून-खराबा हुआ और दोनों देशों के बीच तीन बार जंग हुई. इसमें हजारों की संख्या में लोगों ने जान गंवाई.

वहीं इस अखबार ने ‘कश्मीर वॉर गेट्स स्मालर, डर्टियर एंड मोर इंटिमेट’ नाम से छपे एक एनलिसिस में कहा कि ‘पाकिस्तान में हुए राजनीतिक बदलाव का प्रभाव कश्मीर पर जरूर पड़ेगा. यहां लड़ाई छोटी जरूर होगी, लेकिन खून-खराबा बढ़ने की आशंका भी रहेगी. फिलहाल कश्मीर घाटी में सेना के ढाई लाख से ज्यादा जवान, बॉर्डर सिक्युरिटी फोर्स और पुलिसकर्मी तैनात हैं.’

पाकिस्तान चुनाव ने मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद को दो कौड़ी का नहीं छोड़ा, पाक चुनाव में बेटा और दामाद हारे

कश्मीर में सेना के ऑपरेशन ऑल आउट की सेंचुरी, 101 आतंकी मारे गए, 25 परसेंट पाकिस्तानी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App