उत्तरप्रदेश. Lakhimpur Violence लखीमपुर हिंसा मामले में बड़ा खुलाशा हुआ है. इस मामलें में फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट (FSL Report) में बड़ा खुलासा हुआ है. इस रिपोर्ट में बताया गया हैं कि मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा की राइफल से घटना के वक़्त गोली चली थी. आपको बता दें इस घटना से जुड़ी 3 राइफल को जांच के लिए भेजा गया था जिसमें आशीष मिश्रा की राइफल भी शामिल थी. रिपोर्ट ने इस बात की पुष्टि की है कि आशीष मिश्रा की बंदूक से घटना के वक़्त गोली चली है.

लाइसेंसी राइफल से चली गोलियां 
आपको बता दें जांच के लिए भेजी गई राइफल में आशीष मिश्रा के दोस्त अंकित दास और उनके गनर लतीफ की रिपीटर गन शामिल थी. घटना स्थल पर भगदड़ के दौरान इन सभी लाइसेंसी राइफल से गोलियां चली थी, हलाकि पोस्टमॉर्टम में किसी भी व्यक्ति को गोली लगने की खबर सामने नहीं आई है. पुलिस ने बताया था कि गोलियों के निशान वहां मौजूद गाड़ियों पर मिले थे और इसी आधार पर पुलिस ने इन राइफल को जांच के लिए भेजा था.

आपको बता दें यह घटना 3 अक्टूबर को तिकुनिया इलाके में कृषि कानूनों के विरोध के दौरान हुई थी. इस हादसे में चार किसानों की मौत हो गई थी. जिसके बाद भड़की हिंसा में चार अन्य लोगों की भी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के बेटे आशीष मिश्रा, अंकित दास, सुमित जायसवाल समेत छह लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

यह भी पढ़ें:

Chhath Puja 2021 Day 2: छठ के दूसरे दिन मनाया जाता है खरना, जानें इसकी पूजा विधि

UP Assembly Election 2022 : चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश में जुबानी जंग शुरू, योगी आदित्यनाथ बोले गोरखपुर में भी दौड़ेगी मेट्रो

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर