नई दिल्ली. Farmer protest कृषि कानूनों के विरोध प्रदर्शन में देश भर के किसान दिल्ली के 3 नो बॉर्डर पर बैठे हुए है. दरसल एक साल से किसान यहां बैठे हुए है और सरकार से कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे है. इसी बीच किसान आंदोलन में बैठे हुए एक किसान ने खुदखुशी की है. आज सिंघु बॉर्डर पर एक किसान का शव लटका हुआ मिला। खुदखुशी करने वाले किसान का नाम गुरप्रीत सिंह बताया जा रहे है, जो पंजाब के फ़तेहगढ़ साहिब जिले का रहने वाल है. अभी तक किसान के मौत के कारणों का पता नहीं लग पाया है. कुंडली थाना पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज गया है. मृतक किसान बीकेयू सिद्धपुर से संबंधित था.

टेक्टर मार्च निकालेंगे किसान
किसान संगठनों ने 29 नवंबर से शुरू हो रहे शीतकालीन सत्र के दौरान किसान आंदोलन करने का फैसला किया है. बैठक में किसान आंदोलन के तमाम बड़े नेता शामिल थे, जिसमें आगे की रणनीति पर चर्चा हुई. किसान इस टैक्टर मार्च से सरकार पर दबाव बनाने का काम करेंगे और अपनी शक्ति का प्रदर्शन करेंगे। हलाकि ख़बरों के मुताबिक दिल्ली पुलिस ऐसे किसी भी आंदोलन को अनुमति देने से इंकार कर रही है.

यह भी पढ़ें:

टारगेट किलिंग के बाद केंद्र ने सीआरपीएफ की पांच और कंपनियां जम्मू-कश्मीर भेजी

Delhi Air Pollution : सरकार इस खास प्लान से लगाएगी रोक

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर