नई दिल्ली. मैगी नूडल्स और किटकैट चॉकलेट निर्माता नेस्ले कंपनी की विश्वसनीयता पर एक बार फिर सवाल खड़े हुए हैं। कंपनी के आंतरिक कागजात में ये माना गया है कि कंपनी के 70 फीसद से ज्यादा खाद्य और पेय पदार्थ स्वास्थ्य के पैमानों पर खरे नहीं उतरे हैं। इतना ही नहीं दुनिया की सबसे बड़ी खाद्य कंपनी ने ये भी माना है कि उसके कुछ खाद्य पदार्थ कभी ठीक नहीं हो सकते, भले ही उनपर कितना भी कार्य किया जाए।

यूके बिजिनेस डेली फाइनेंशियल टाइम्स के मुताबिक, 2021 की शुरुआत में शीर्ष अधिकारियों के बीच प्रसारित एक प्रस्तुति में कहा गया है कि नेस्ले के केवल 37% उत्पादों ने पालतू जानवरों के भोजन और विशेष चिकित्सा पोषण को छोड़कर, ऑस्ट्रेलिया के स्वास्थ्य स्टार रेटिंग सिस्टम के तहत 3.5 या उससे अधिक की रेटिंग हासिल की। कंपनी ने 3.5 स्टार रेटिंग को “स्वास्थ्य की मान्यता प्राप्त परिभाषा” माना। सिस्टम 5 सितारों के पैमाने पर खाद्य पदार्थों को रेट करता है और अंतरराष्ट्रीय समूहों द्वारा बेंचमार्क के रूप में उपयोग किया जाता है।

एफटी द्वारा देखी गई प्रस्तुति के अनुसार, कंपनी के समग्र खाद्य और पेय पोर्टफोलियो में से, 70% उत्पाद उस स्तर पर पहुंचने में विफल रहे, साथ ही 90% पेय भी अगर शुद्ध कॉफी को छोड़ दिया जाए तो।

CBSE 12th Board Exam 2021 Cancelled : कोरोना से निपटने का स्थायी समाधान क्या? 12वी की परीक्षा रद्द होने के बाद भी कई सवाल बाकी

CBSE 12th Board Exam 2021 Cancelled : 12वीं की परीक्षा रद्द होने पर केजरीवाल से लेकर प्रियंका गांधी सहित बाकी नेताओं ने क्या दी प्रतिक्रिया?