नई दिल्ली. उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर की मंगलवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है. मौत की वजह दिल की गति रुकना बताई जा रही है. साकेत मैक्स के डॉक्टरों ने उन्हें शाम 5.50 बजे मृत घोषित कर दिया. साउथ दिल्ली के डीसीपी विजय कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी को साकेत स्थित मैक्स हॉस्पिटल में लाया हुआ मृत घोषित किया गया. 

रोहित शेखर दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में रहते थे. उनकी मां उज्जवला तिवारी और पत्नी उन्हें अस्पताल लेकर पहुंची थीं. पिछले साल 18 अक्टूबर को नारायण दत्त तिवारी का भी निधन हो गया था. इसी दिन उनका जन्मदिन भी था. रोहित शेखर से लंबी कानूनी लड़ाई के बाद एनडी तिवारी ने उन्हें अपना बेटा माना था. रोहित की शादी पिछले साल 11 मई को हुई थी और वह सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस कर रहे थे.  

साल 2008 में रोहित शेखर ने मुकदमा दायर कर एनडी तिवारी को अपना जैविक पिता होने का दावा किया था.  इसके बाद कोर्ट ने तिवारी की डीएनए मैपिंग का आदेश दिया था. 27 जुलाई 2012 को दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि इस विवाद को निपटाए जाने की जरूरत है. लिहाजा कोर्ट ने एनडी तिवारी की उस अपील को खारिज कर दिया, जिसमें डीएनए टेस्ट का रिजल्ट गोपनीय रखने की गुहार लगाई गई थी. 27 जुलाई 2012 को कोर्ट ने डीएनए टेस्ट का ऐलान करते हुए कहा कि एनडी तिवारी ही रोहित शेखर के जैविक पिता हैं और उज्जवला तिवारी उनकी जैविक मां हैं.

 इसके बाद मीडिया से गुजारिश करते हुए तिवारी ने कहा था, ‘मुझे अपनी तरह से अपनी जिंदगी जीने का हक है. किसी को मेरी निजी जिंदगी में झांकने का हक नहीं है.मेरी निजता का सम्मान करें. ” 3 मार्च 2014 को एनडी तिवारी ने कहा कि मैं रोहित शेखर को अपना बेटा मानता हूं. डीएनए टेस्ट से भी साबित हुआ है कि वह मेरा जैविक पुत्र है. 14 मई 2014 को तिवारी ने रोहित शेखर की मां उज्जवला तिवारी से लखनऊ में हुए एक समारोह में शादी की थी. 

ND Tiwari Death: अगर नैनीताल चुनाव में शिकस्त नहीं मिलती तो प्रधानमंत्री बन जाते एनडी तिवारी

CM Yogi Adityanath Viral Video of Laughing ND Tiwari Tribute: एनडी तिवारी के अंतिम दर्शन में मंत्रियों संग खुद की हंसी नहीं रोक पाए सीएम योगी आदित्यनाथ, वीडियो वायरल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App