नई दिल्ली. कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर अपने विवादित बयान को लेकर सुर्खियों में हैं. पाकिस्तान आर्मी चीफ जनरल कमर बाजवा को गले लगाने वाले मामले को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पाकिस्तान जाना दक्षिण भारत जाने से कहीं अच्छा है. शनिवार को हिमाचल प्रदेश के कसोल में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने यह बयान दिया.

बीजेपी से कांग्रेस में शामिल होने वाले नेता और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि अगर मैं तमिलनाडु जाता हूं तो मुझे वहां कि भाषा समझ नहीं आती न ही मुझे वहां का खाना बेहतर लगता है. इन्हीं वजहों से मैं वहां ज्यादा दिन नहीं गुजार सकता. लेकिन अगर मैं पाकिस्तान की यात्रा करूं तो वहां इस तरह की किसी भी कठनाईयों का सामना नहीं करना पड़ता. पाकिस्तान की भाषा और सभी चीजें बहुत ही बढ़िया हैं.

पंजाब में टूरिज्म और संस्कृति मंत्री इस कार्यक्रम में पंजाब व पाकिस्तान के कल्चर को लेकर अपनी बात रख रहे थे लेकिन अपनी बातों को गलत तरीके से पेश करने की वजह से वह एक बार फिर विवादों में हैं. एक बार फिर पाकिस्तान के सेना चीफ को गले लगाने को सही ठहराते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि मेरी झप्पी कोई साजिश नहीं थी न ही यह राफेल सौदा था.

पाकिस्तान सेना प्रमुख ने सिखों के तीर्थस्थल करतारपुर साहिब कॉरिडोर को खोलने की बात भी कहीं जिसके बाद मैंने उन्हें झप्पी दी और उन्हें चूम लिया. गौरतलब है कि नवजोत सिंह सिद्दू पाकिस्तानी प्रधानमंत्री और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान के न्यौते पर शपथग्रहण समारोह में हिस्सा लेने पाकिस्तान पहुंचे थे, इस दौरान वह पाक आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा से गले मिले थे.

इमरान खान बोले- मैं जंग के खिलाफ, किसी दूसरे देश की लड़ाई नहीं लडे़गा पाकिस्तान

पाकिस्तानी आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा की भारत को धमकी- सरहद पर बहे खून का बदला लेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App