चंडीगढ़: इंडिया न्यूज पंजाब ने आज चंडीगढ़ में जेम्स ऑफ नॉर्थ अवार्ड का आयोजन किया जहां पंजाब कैबनिट में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू समेत कई नामचीन हस्तियों ने हिस्सा लिया. इस दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने समाज में उत्कृष्ट योगदान देने वाले लोगों को सम्मानित किया.

अपने भाषण की शुरूआत करते हुए सिद्धू ने कहा कि बुधवार को बकरीद थी और लोगों ने मुझे बकरीद की मुबारकबाद ना देने को कहा क्योंकि लोगों को गले लगाना पड़ता. उन्होंने आगे कहा कि बुधवार को उन्होंने कम से कम 200 लोगों को गले लगाया.

उन्होंने कहा कि समाज में भरोसे की कमी है और हमारा काम है कि समाज के लोगों में आपस में भरोसा बढ़ाना.
उन्होंने कहा कि मानवता बहुत जरूरी है क्योंकि क्योंकि अगर आप इंसानियत की राह पर हैं तो समझिए आप भगवान के दिखाए रास्ते पर हैं जिसका मतलब आपको ऊपर वाले की कृपा हासिल होगी.

सिद्धू ने कहा कि मैं अपने करियर में हिमालय जैसी ऊंचाईयों तक गया, एक बार किसी ने मुझसे पूछा कि आपने इतना कुछ हासिल किया आपको कौन सी चीज संतुष्ट करती है. क्रिकेट, राजनीति या रियालिटी टीवी? इसके जवाब में मैने कहा कि राजनीति क्योंकि राजनीति लोगों की जिंदगी बदलती है. एशियन गेम्स में भारत के प्रदर्शन को लेकर उन्होंने कहा कि महिला हो या पुरुष जो भी भारत के लिए मेडल जीतता है उसके लिए मुझे उतना ही गर्व होता है.

अपने चिर परिचित अंदाज में नवजोत सिंह सिद्दू ने कहा कि मान और सम्मान उसे नहीं मिलता जो उसकी चाहत करता है बल्कि उसे मिलता है जो उसके लिए मेहनत करता है. उन्होंने एक और शेर सुनाया कि एक पत्थर चोट खाकर कंकड़ हो गया और एक पत्थर चोट खाकर शंकर हो गया.

नवजोत सिंह सिद्धू बोले- मोदी सरकार की इजाजत से गया पाकिस्तान, पीएम से लाहौर यात्रा पर कोई नहीं पूछता

नवजोत सिंह सिद्धू बोले- मोदी सरकार की इजाजत से गया पाकिस्तान, पीएम से लाहौर यात्रा पर कोई नहीं पूछता