नई दिल्ली: भारत में एकबार फिर कोरोना वायरस अपने पैर पसारने लगा है. बीते 24 घंटे में देशभर में कोरोना के 2,568 नए मामले सामने आए हैं, जबकि इस दौरान 20 लोगों की मौत हुई हैं. वहीँ एक दिन में कोरोना से 2,911 मरीज ठीक हुए है. इससे पहले कल यानि 2 मई को कोरोना के 3,157 नए मामलें सामने आए थे. हेल्थ मिनिस्ट्री के अनुसार अब तक देशभर में कोरोना के कारण 5, 23,889 लोगों ने अपनी जान गवाई हैं.

5-12 साल की उम्र के किशोरों को वैक्सीन देने पर विचार

कोरोना वैक्सीनेशन के राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह टीकाकरण (एनटागी, NTAGI) का कार्य समूह 4 मई को 5 से 12 साल की आयु के बच्चों के कोरोना टीकों के आंकड़ों की समीक्षा करेगा। इस समीक्षा के डेटा देखने के बाद दूसरे स्तर की स्थायी तकनीकी उप-समिति (STSC) कार्य समूह द्वारा सिफारिशों की समीक्षा और चर्चा करेगी। ASTSC फिर से डेटा की समीक्षा करेगी और फिर अंतिम निर्णय देगी। इसके बाद बच्चो की वैक्सीनेशन पर अंतिम फैसला हो पाएगा। आपको ज्ञात हो कि भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) ने 5 से 12 साल की आयु के बच्चों के लिए बायोलाजिकल ई के कार्बेवैक्स (Corbevax) और 6 से 12 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए भारत बायोटेक की कोवैक्सीन (Covaxin) को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी है। वहीं पिछले हफ्ते NTAGI ने 12 से 17 आयु वर्ग के लिए सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया के कोरोना वैक्सीन कोवोवैक्स (Covovax) को मंजूरी दी है।

यह भी पढ़े:

गुरुग्राम के मानेसर में भीषण आग, मौके पर दमकल की 35 गाड़ियां

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर