नई दिल्ली: अयोध्या राम मंदिर-बाबरी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट के एतिहासिक फैसले के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने देर शाम मीडिया के जरिए देश को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि आज सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐसे महत्वपूर्ण मामले पर फैसला सुनाया है, जिसके पीछे सैकड़ों वर्षों का दीर्घकालीन इतिहास है. पीएम ने कहा कि पूरे देश की इच्छा थी कि इस मामले की अदालत में रोज सुनवाई हो, जो हुई और आज निर्णय आ चुका है और इस तरह दशकों तक चली न्याय प्रकिया का अब समापन हो गया है

पीएम मोदी ने कहा कि पूरी दुनिया ये तो मानती है कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतान्त्रिक देश है, लेकिन आज दुनिया ने ये भी जान लिया है कि भारत का लोकतंत्र कितना जीवंत और मजबूत है. जनता की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद जिस प्रकार हर वर्ग, हर समुदाय और हर पंथ के लोगों सहित पूरे देश ने खुले दिल से इसे स्वीकार किया है, वो भारत की पुरातन संस्कृति, परंपराओं और सद्भाव की भावना को प्रतिबिंबित करता है.

आज के दिन को एतिहासिक बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत की न्यायपालिका के इतिहास में भी आज का ये दिन एक स्वर्णिम अध्याय की तरह है. उन्होंने आगे कहा कि इस विषय पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने सबको सुना और बहुत धैर्य से सुना और पूरे देश के लिए खुशी की बात है कि सर्वसम्मति से फैसला दिया. उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने इस फैसले के पीछे दृढ़ इच्छाशक्ति दिखाई है इसलिए, देश के न्यायधीश, न्यायालय और हमारी न्यायिक प्रणाली अभिनंदन के अधिकारी हैं.

आपसी सौहार्द का संदेश देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज अयोध्या पर फैसले के साथ ही 9 नवंबर की ये तारीख हमें साथ रहकर आगे बढ़ने की सीख भी दे ही है. आज के दिन का संदेश जोड़ने का है-जुड़ने का है और मिलकर जीने का है. पीएम मोदी ने कहा कि इन सारी बातों को लेकर कभी भी, कहीं भी किसी के मन में कोई भी कटुता रही हो तो उसे भी तिलांजलि देने का दिन है. नए भारत में भय, कटुता, नकारात्मकता का कोई स्थान नहीं है.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सर्वोच्च अदालत का ये फैसला हमारे लिए एक नया सवेरा लेकर आया है. इस विवाद का भले ही कई पीढ़ियों पर असर पड़ा हो, लेकिन इस फैसले के बाद हमें ये संकल्प करना होगा कि अब नई पीढ़ी, नए सिरे से न्यू इंडिया के निर्माण में जुटेगी.

International Media Coverage on SC Ayodhya Verdict: अमेरिका-यूरोप से लेकर अरब देशों तक चर्चा में रहा अयोध्या राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, अंतर्राष्ट्रीय मीडिया ने दी ऐसी प्रतिक्रिया

UP Sunni Central Waqf Board on SC Ayodhya Verdict: अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को यूपी सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड का समर्थन, कहा- पुर्नविचार याचिका पर कोई विचार नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App