नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से लगातार छठी बार दो श को संबोधित करेंगें. सत्ता में वापस आने के बाद उनका ये पहला भाषण होगा. लाल किले से प्रधानमंत्री जम्मू कश्मीर पर लिए गए महत्वपूर्ण फैसले और देश के विकास समते कई मुद्दों पर विचार रखेंगे. मोदी 15 अगस्त के अपने संबोधन से पहले सरकार की महत्वकांक्षी परियाजोनाओ स्वच्छ भारत, आयुष्मान भारत और भारत के अंतरिक्ष मानव मिशन की घोषणा कर चुके हैं.

प्रधानमंत्री इस मौके पर पर देश को विकास को रेखांकित करते हुए अपनी सरकार के काम का लेखाजोखा पेश करते हैं. पार्टी नोताओं का मानना है कि जम्मू किश्मीर से अनुच्छेद 370 जैसे विवादित एजेंडे को उनकी पाटी के कोर एजेंडे वाले कदमम को संसद की मंजूरी से पहले प्रधानमंत्री के भाषण की दिशा तय हो चुकी हैं. मोदी 15 अगस्त को लाल किले के प्राचीर से स्वतंत्रता दिवस पर भाषण देने के लिए अटल बिहारी वाजपेयी की बराबरी कर लेंगे. इससे पहले भाजपा के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के समकक्ष हो जाएंगे जिन्होंने 1998 से 2003 के बीच लगातार छह बार लालकिले की प्राचीर से 15 अगस्त को भाषण दिया था.

पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री ने घाटी के लोगों को विकास और शातिं का वादा किया था. पीएम मोदी ने जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जा खत्म कर के राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेश में बांटे के फैसल पर लोगों की चिंताओ को दूर करने की कोशिश की हैं. कुछ भाजपा नेताओ का मानना है कि प्रधानमंत्री के भाषणों में अधिकतक चौंकाने वाली घोषणा होती हैं. इस बार फिर स्वतंत्रता दिवस के मौके पर वह कुछ चौंकाने वाली घोषणांए कर सकते हैं.

Narendra Modi Independence Day Speech 15th August 2019: कब, कहां और कैसे देखें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश के नाम संबोधन, सुबह साढ़े 6 बजे से लाइव स्ट्रीमिंग

Ayodhya Land Dispute Case SC Hearing Day 6 Written Updates: अयोध्या राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट में छठे दिन की सुनवाई पूरी, जानें किसने क्या कहा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App