नई दिल्लीः Modi government paid 40% more than Dassault earlier offer to UPA: भारत-फ्रांस के बीच हुई राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद मामले पर एक बार फिर विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार को घेरना शुरू कर दिया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक मोदी सरकार ने जिन 36 राफेल विमानों के लिए 2016 में फ्रांस की राफेल उत्पादक कंपनी डसॉल्ट के साथ सौदा किया है वो 2012 में यूपीए सरकार के सामने पेश की गई कीमत से 40 प्रतिशत ज्यादा है. जिसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस रिपोर्ट के हवाले से पीएम मोदी पर एक बार फिर निशाना साधा है. राहुल गांधी ने कहा कि सबको पता है राफेल की क्या कीमत है लेकिन फिर भी सरकार के लिए ये सीक्रेट डील है.

अंग्रेजी अखबार बिजनेस स्टैंडर्ड की खबर के मुताबिक 2012 में हुए अनुबंध में जो कीमत इन विमानों के लिए रखी गई थी जो 2016 में मोदी सरकार द्वारा किए गए अनुबंध में 40 प्रतिशत बढ़ चुकी है. रक्षा मंत्रालय के दो वरिष्ठ अधिकारी जो 2012 में यूपीए सरकार के समय डसॉल्ट के साथ अनुबंध वार्ता में सीधे तौर पर शामिल थे उन्होंने बताया कि 126 राफेल विमानों के लिए डसॉल्ट ने 19.5 बिलियन यूरो में बोली जीती थी लेकिन जिसके बाद ये कीमत 155 मिलियन यूरो तक पहुंच गई है. जिसमें 126 विमानों को बनाने की लागत शामिल है.

इस रिपोर्ट के हवाले से राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री और राफेल डील पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि प्रधानमंत्री जानते हैं, अनिल अंबानी जानते हैं, हॉलैंड और मैक्रोन जानते हैं, अब हर पत्रकार जानता है, रक्षा मंत्रालय के बाबू जानते हैं, डसॉल्ट जानता है और डसॉल्ट के प्रतियोगियों को पता है लेकिन फिर भी राफेल की कीमत एक राष्ट्रीय रहस्य है जिसे सुप्रीम कोर्ट में भी नहीं बताया जा सकता.

P Sainath Alleged Crop Insurance Scam: पत्रकार पी. साईंनाथ ने किसान बीमा योजना को बताया राफेल से बड़ा घोटाला, पीएम नरेंद्र मोदी पर बरसे राहुल गांधी

Rahul Gandhi Attacks Narendra Modi over Rafale Deal: राफेल डील को लेकर फिर गरजे राहुल गांधी, बोले- जांच हुई तो पीएम नरेंद्र मोदी नहीं बचेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App