हिंदू संगठन बजरंग दल ने मंगलवार को महाराष्ट्र के नागपुर में वेलेंटाइंस डे के विरोध में रैली निकाली. बजरंग दल की इस रैली का नाम ‘इशारा रैली’ था. बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने कहा कि अगर उन्हें वेलेंटाइंस डे मनाने का हक है तो हमें अपनी संस्कृति बचाने का भी हक है. उन्होंने यह भी कहा कि अगर 14 फरवरी को कोई कपल सड़कों पर दिखाई दिया तो वह उसकी शादी करा देंगे. इससे पहले बजरंग दल ने हैदराबाद के पबों और रेस्तरां में जाकर होटल मालिकों को चेतावनी दी थी कि वह वेलेंटाइंस डे के दिन कोई प्रोग्राम न रखें. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बजरंग दल के एक कार्यकर्ता ने कहा कि हम उन दुकानों दुकानों पर गए जहां वेलेंटाइंस डे से जुड़े गिफ्ट्स मिल रहे थे. यह हमारी हिंदू संस्कृति नहीं है. हमें पश्चिमी सभ्यता को अपनाना नहीं चाहिए.

इससे पहले गुजरात के अहमदाबाद की सड़कों पर बजरंग दल ने ‘लव जिहाद’ के पोस्टर चस्पा दिए थे. इसमें हिंदू लड़कियों को सावधान रहने की नसीहत दी गई थी. यह पोस्टर शहर के अधिकतर कॉलेजों के बाहर लगाए गए थे. पोस्टर में बजरंग दल और कर्णावती लिखा था.पोस्टर में एक लड़की का चेहरा बना था जो आधे हिस्से में हिंदू और दूसरे आधे हिस्से में मुस्लिम (बुर्का पहने हुए) नजर आ रही थी.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बजरंग दल का कहना था कि इन पोस्टरों के माध्यम से उन्होंने युवाओं को दो संदेश एक साथ देने की कोशिश की है. पहला हिंदू युवतियां लव जिहाद से सावधान रहें और दूसरा वह किसी भी सूरत में वेलेंटाइन डे नहीं मनाने देंगे.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App