नई दिल्ली. तीन तालाक और हलाला के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में लड़ाई लड़ने वाली और एक टीवी डिबेट के दौरान मौलवी को पीट देने वाली वकील फराह फैज ने धर्म परिवर्तन कर लिया है. फराह फैज ने धर्म बदलकर अपना नाम अब लक्ष्मी कर लिया है. इस घटनाक्रम का लाभ उठाने का मौका न छोड़ते हुए भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने उनका पगड़ी पहनाकर स्वागत किया.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार धर्म परिवर्तन करने के बाद फराह फैज से लक्ष्मी बनी वकील ने कहा कि मेरे पूर्वज क्षेत्रिय थे इसीलिए मैंने एक बार फिर मैंने अपने धर्म में आने का निर्णय किया. फराह फैज के इस कदम से देवबंद के भाजपा नेताओं ने खूब स्वागत किया. वहीं फराह फैज ने दारुल उलूम और मुस्लिम पर्सनल लॉ बॉर्ड पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि भारत देश शरिया से नहीं बल्कि संविधान से चलेगा क्योंकि शरीयत के नाम में मुस्लिम धर्म में महिलाओं का हक मारा जाता है. साथ ही महिलाओं पर जबरदस्ती कुछ चीजें थोपी जाती हैं. बतौर मीडिया, फराह फैज ने कहा कि जबरन शरीयत थोपने वाले लोगों पर देशद्रोह का मुकदमा चलना चाहिए.

फराह फैज ने तीन तालाक पर कहा कि आज के समय में कुछ कट्टर मुस्लिम नहीं चाहते हैं कि देश में तीन तालाक बिल लागू हो क्योंकि वह लोग अच्छे से जानते है कि कानून के आने के बाद उन लोगों की फतवे और चार शादियां करवाने वाली दुकाने बंद हो जाएंगी. बता दें फराह फैस ने सुर्खियां तब बटौरी थीं जब उन्होंने एक लाइव टीवी डिबेट के दौरान एक मौलवी को थप्पड़ जड़ दिया था.

अभिनेता जॉन अब्राहम के खिलाफ FIR, फिल्म सत्यमेव जयते में मुसलमानों की धार्मिक भावनाएं आहत का आरोप

Sacred Games: सेक्रेड गेम्स वेब सीरीज में कुब्रा सैत, जितेंद्र जोशी और ल्यूक केनी के किरदार क्यों हैं सबसे खास

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App