मुंडका अग्निकांड:

नई दिल्ली।  देश की राजधानी दिल्ली के मुंडका इलाके में शुक्रवार शाम को एक कमर्शियल बिल्‍ड‍िंग में भयानक आग लग गई. इस हादसे में अब तक 27 लोगों के शव बरामद किए जा चुके है. बता दें कि जिस बिल्डिंग में आग लगी थी. उसमें एक फैक्ट्री चल रही थी. जानकारी के मुताबिक फैक्ट्री मालिक के पिता की भी आग में झुलसकर मौत हो गई है।

कपंनी मालिक के पिता की मौत

बताया जा रहा है कि आग में कंपनी मालिक वरुण और हरीश गोयल के पिता अमरनाथ गोयल की भी झुलसकर मौत हो गई है. जिस वक्त बिल्डिंग में आग लगी. उस समय फैक्ट्री कर्मचारियों के बीच मोटिवेशनल स्पीच चल रही थी. फैट्री मालिक के पिता भी वहां मौजूद थे. आग लगने के बाद वो भी अन्य लोगों के साथ बिल्डिंग में फंस गए. जिसके बाद आग में झुलसने से उनकी मौत हो गई।

फैक्ट्री मालिक गिरफ्तार

अग्निकांड के बाद कमर्शियल बिल्‍ड‍िंग में फैक्ट्री चलाने वाले मालिक हरीश गोयल और वरुण गोयल को गिरफ्तार कर लिया गया है. उन दोनों को पुलिस ने गैर इरादतन हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है. खबरों के मुताबिक बिल्डिंग का मालिक मनीष लाकड़ा अभी फरार है।

30 हो सकता है मृतकों का आंकड़ा

ताजा जानकारी के अनुसार इस भीषण आग कांड में अभी तक 27 लोगों का शव बरामद हो चुका है. दिल्ली फायर सर्विसेज के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि रात को 27 लोगों के शव मिले. इसके बाद सुबह कुछ शवों के हिस्से मिले हैं. जिससे लगता है कि ये 2-3 शव और होंगे. अब कुल मृतकों की संख्या 29-30 हो सकती है।

मुआवजे का हुआ ऐलान

बता दें कि मुंडका इलाके में भीषण आग हादसे में जान गवांने वालों के आश्रितों के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुआवजे की घोषणा की है. प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर लिखा कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से इस हादसे में जाने गंवाने वालों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को पचास-पचास हजार रुपये की राशि दी जाएगी।

यह भी पढ़े:

एलपीजी: आम लोगों का फिर बिगड़ा बजट, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 50 रूपये हुआ महंगा

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर