मुंडका अग्निकांड:

नई दिल्ली।  राष्ट्रीय राजधानी के मुंडका इलाक में हुए भीषण अग्निकांड में मरने वाले 27 लोगों में से 25 की पहचान अभी नहीं सकी है. दिल्ली बाहरी जिला डीसीपी समीर शर्मा ने बताया कि अब फॉरेंसिक टीम शवों के पहचान के लिए DNA टेस्ट करेगी।

घटनास्थल की सफाई कर रही है NDRF

डीसीपी समीर शर्मा ने आगे बताया कि NDRF की टीम अग्निकांड वाले जगह की सफाई कर रही है और देख रही है कि वहां कोई और तो नहीं है. उन्होंने कहा कि गायब हुए लोगों की जानकारी एकत्र की जा रही है।

छत से टपक रहा था गर्म पानी

राहत बचाव अभियान में जुटे एनडीआरएफ असिस्टेंट कमांडेंट विकास सैनी ने बताया कि हमारी टीम रात 11:30 बजे के आसपास घटनास्थल पर पहुंच गई थी. शुरूआत में यहां सर्च अभियान में काफी समस्या हो रही थी. लेकिन बाद में आग पर काबू पा लिया गया. सर्च अभियान के दौरान दीवारों और छत से काफी गर्म पानी टपक रहा था. फिलहाल अभी सर्च करने में कोई समस्या नहीं आ रही।

दूसरी मंजिल पर मिले शरीर के छोटे टुकड़े

असिस्टेंट कमांडेंट विकास सैनी ने आगे बताया कि सतह पर एनडीआरएफ ने तीनों फ्लोर पर सर्च कर लिया है. लेकिन अभी दूसरी मंजिल पर पूरी तरह सर्च नहीं हुआ है. उन्होंने बताया कि दूसरी मंजिल पर सर्च टीम को शरीर के छोटे-छोटे 7-8 पार्ट मिले हैं. असिस्टेंट कमांडेंट ने आगे बताया कि लगभग 4-5 घंटे में सर्च का काम पूरा हो जाएगा।

मुआवजे का हुआ ऐलान

बता दें कि मुंडका इलाके में भीषण आग हादसे में जान गवांने वालों के आश्रितों के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुआवजे की घोषणा की है. प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर लिखा कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से इस हादसे में जाने गंवाने वालों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को पचास-पचास हजार रुपये की राशि दी जाएगी।

यह भी पढ़े:

एलपीजी: आम लोगों का फिर बिगड़ा बजट, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 50 रूपये हुआ महंगा

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर