नई दिल्ली. तालिबान को लेकर इस समय पूरे देश में काफी चर्चा हो रही है। आप सभी जानते ही होंगे कि तालिबान ने अफगानिस्तान की सीमा पर कब्जा कर लिया है। तालिबान को लेकर अफगान नागरिकों के डर का अंदाजा काबुल एयरपोर्ट से आ रही तस्वीरों से लगाया जा सकता है। दूसरी ओर भारत में तालिबान को लेकर लगातार बयानबाजी होती रही है। अब एक इंटरव्यू में मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने कहा, ”तालिबान ने सही किया है, उनकी जमीन पर किसी भी तरह कब्जा किया जा सकता है.”

यह पूछे जाने पर कि क्या तालिबान इस क्षेत्र पर कब्जा कर रहा है, राणा ने जवाब दिया, ‘इसे बहुत आगे जाना है, इसे हिंदुस्तानी नहीं माना जा सकता। इसे एक हिंदुस्तानी के रूप में माना जाना चाहिए जो अंग्रेजों की गुलामी में था, जिसने आजाद कराया। तो उन्होंने भी अपने देश को आजाद कर लिया है, तो क्या दिक्कत है? इसमें भारत को भुगतने की क्या जरूरत है? अफगानिस्तान हजारों वर्षों से भारत का मित्र रहा है। कभी अमेरिका अफगानिस्तान पर कब्जा करता है, कभी रूस उसे परेशान करता है, कभी ब्रिटेन, उनकी दुश्मनी उनसे है। इसमें हमारी क्या भूमिका है?”

उन्होंने आगे कहा, “तालिबान के रवैये को आतंकवादी नहीं कहा जा सकता। हां, उन्हें आक्रामक कहा जा सकता है। अगर तालिबान अपने देश के लिए लड़ रहे हैं, तो आप उन्हें आतंकवादी कैसे कह सकते हैं? जो अमेरिका और अशरफ गनी के साथ राख कर रहे थे, वे भाग रहे हैं। आप सभी जानते ही होंगे कि इस समय भारत में कई लोग हैं जो तालिबान का समर्थन कर रहे हैं। सूची में एक नाम ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता सज्जाद नोमानी का है।

Supreme Court Order: एनडीए परीक्षा में बैठ सकेंगी लड़कियां, नवंबर में होने वाली है परीक्षा, सेना को ‘लैंगिक भेदभाव’ के लिए लताड़ा

Afghanistan Crisis: 20 साल बाद कंधार पहुंचे अब्दुल गनी बरादर, बन सकते हैं राष्ट्रपति

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर