नई दिल्ली. ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (AICC) के महासचिव और पार्टी के दलित नेता मुकुल वासनिक कांग्रेस के नए अंतरिम अध्यक्ष बनाए जा सकते हैं और आगे चलकर सांगठनिक चुनाव के जरिए अगले नए अध्यक्ष भी चुने जा सकते हैं. सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी के अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद चल रही अध्यक्ष पद के उम्मीदवार की खोज मुकुल वासनिक पर टिकी है जो युवा और बुजुर्ग दोनों के बीच की कड़ी साबित हो सकते हैं. चर्चा है कि मुकुल वासनिक को अंतरिम अध्यक्ष बनाने के साथ-साथ पांच कार्यकारी अध्यक्ष भी बनाए जा सकते हैं. महाराष्ट्र की एससी रिजर्व रामटेक सीट से लोकसभा लड़ने वाले मुकुल वासनिक मनमोहन सिंह सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं. मुकु वासनिक के अलावा सुशील कुमार शिंदे, मल्लिकार्जुन खड़गे जैसे वरिष्ठ और ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट जैसे युवाओं के नाम भी अंतरिम अध्यक्ष पद के लिए चर्चा में थे. मुकुल वासनिक गांधी परिवार के विश्वस्त माने जाते हैं. ऐसे में कांग्रेस के नए अध्यक्ष पर चल रहे ऊहापोह की स्थिति पर अब विराम लग सकता है. कांग्रेस सूत्रों की माने तो बहुत जल्द मुकुल वासनिक के नाम की घोषणा हो सकती है.

बता दें कि 2019 लोकसभा चुनावों में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी और एनडीए को पूर्ण बहुमत मिला. वहीं कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी दलों को करारी हार का सामना करना पड़ा. चुनाव परिणामों के बाद राहुल गांधी ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. बहुत दिनों तक कांग्रेस के सभी वरिष्ठ-कनिष्ठ नेता राहुल गांधी को मनाते रहे कि वो अपना फैसला बदल लें लेकिन ऐसा न हो सका. राहुल गांधी ने ट्विटर पर भी अपना इस्तीफा शेयर किया था. राहुल गांधी ने यह भी साफ कर दिया था कि न वो न ही उनके परिवार से कोई अगला कांग्रेस अध्यक्ष बनेगा. ऐसे में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, सुशील कुमार शिंदे का नाम अध्यक्ष पद के लिए चल रहा था. वहीं कुछ युवा चेहरों जैसे सचिन पायलट और ज्योतिर्दित्य सिंधिया का नाम भी चर्चा में था. मुकुल वासनिक युवा एवं वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं के बीच एक पुल का काम कर सकते हैं.

जानें कौन हैं मुकुल वासनिक
मुकुल वासनिक के पिता बालकृष्ण वासनिक भी वरिष्ठ कांग्रेसी नेता थे. वो तीन बार के सांसद थे. मुकुल वासनिक ने छात्र राजनीति से कांग्रेस में कदम रखा. 1984 से 1986 तक मुकुल वासनिक एनएसयूआई (NSUI) के अध्यक्ष रहे. इसके बाद 1988 से 1990 तक वह यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष रहे. मुकुल वासनिक, मनमोहन सिंह की सरकार में समाजिक कल्याण मंत्री भी रहे. नागपुर यूनिवर्सिटी से बीएससी और एमबीए की डिग्री हासिल कर चुके मुकुल वासनिक इस वक्त कांग्रेस के महासचिव हैं और केरल राज्य के प्रभारी हैं. मुकुल वासनिक को साफ छवि और संगठन पर मजबूत पकड़ के कारण इस रेस में सबसे आगे माना जा रहा है. जल्द ही कांग्रेस उनके नाम की घोषणा कर सकती है.

Navjot Singh Sidhu resigns Punjab Cm Amarinder singh Cabinet: कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू का पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह कैबिनेट से इस्तीफा, ट्विटर पर साझा किया रेजिग्नेशन लेटर

Rahul Gandhi Not Guilty In RSS Defamation Case: कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद राहुल गांधी बोले- कार्यकर्ता की तरह पीएम नरेंद्र मोदी, बीजेपी और आरएसएस से पिछले 5 साल से 10 गुणा ज्यादा लड़ूंगा