भोपाल. लोकसभा चुनाव 2019 से पहले इसी साल मध्य प्रदेश, राजस्थान, मिजोरम समेत चार राज्यों में चुनाव होने हैं. इससे पहले सभी पार्टियों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. मध्य प्रदेश चुनाव में बताया जा रहा है कि कांग्रेस उन्हीं उम्मीदवारों को टिकट देने वाली हैं जो सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं. ऐसे उम्मीदवार जिनके फेसबुक पर 1500 लाइक और ट्विटर पर 5000 फॉलोअर्स होंगे. इससे जाहिर होता है कि राजनीति से जुड़ी जानकारियों के अलावा मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 में सोशल मीडिया एक्टिविटी इस बार कांग्रेस की टिकट दिलवाने में उम्मीदवारों की मदद करेगा.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 से पहले कांग्रेस ने नेताओं से साफ किया है कि जिन्हें टिकट चाहिए उन्ही सोशल मीडिया पर पकड़ मजबूत करनी होगी. साथी ही मध्य प्रदेश में पार्टी के नेताओं से उनकी सोशल मीडिया का पूरा ब्योरा मांगा है. कांग्रेस ने दो टूक में कहा कि जो नेता चुनाव में अपने दावेदारी पेश करना चाहते हैं उनके फेसबुक पर 15,000 लाइक्स होने चाहिए और ट्विटर पर 5,000 फॉलोअर्स होने चाहिए.

मीडिया के मुताबिक कांग्रेस ने इसके अलावा यह शर्त भी रखी है कि वह कांग्रेस के नेताओं को मध्यप्रदेश कांग्रेस के सभी ट्वीट्स को लाइक और रीट्वीट करना होगा. बताया जा रहा है कि कांग्रेस सितंबर की 20 तारीख तक मध्य प्रदेश में लगभग 70 से 80 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम का एलान कर सकती है. बता दें कि मंगलवार को नई दिल्ली में कांग्रेस चुनाव समिति की बैठक होगी. जिसमें चुनाव को लेकर रणनीति सेट की जानी है. इस मीटिंग के लिए चुनाव अभियान समिति के सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया भी दिल्ली पहुंच गए हैं.

काफिले पर पत्थरबाजी को लेकर शिवराज सिंह चौहान ने फोड़ा विपक्ष पर हमला, कहा- कांग्रेस पार्टी मेरे खून की प्यासी है

मध्य प्रदेशः जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान के काफिले पर पथराव, दिखाए गए काले झंडे

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App