July 17, 2024
  • होम
  • Father’s Day 2024: माँ सर्वशक्तिमान है और पिता भगवान के समान है, जो अपनी हंसी को फिक्स डिपॉजिट की तरह जमा कर देतें हैं

Father’s Day 2024: माँ सर्वशक्तिमान है और पिता भगवान के समान है, जो अपनी हंसी को फिक्स डिपॉजिट की तरह जमा कर देतें हैं

  • WRITTEN BY: Aprajita Anand
  • LAST UPDATED : June 16, 2024, 2:06 pm IST

नई दिल्ली: शास्त्रों में पिता को देवता माना गया है। एक पिता अपने बच्चे के जीवन को सुंदर और मजबूत बनाने के लिए जीवन भर संघर्ष करता है। हमारे धर्म शास्त्रों में भी पिता का महत्व बताया गया है।

जून माह के तीसरे रविवार को फादर्स डे के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष फर्ड्स दिवस 16 जून 2024 को है।

इस मौके पर बच्चे अपने पापा को स्पेशल फील कराते हैं. कहा जाता है कि फर्ड्स डे मनाने की शुरुआत सबसे पहले 1910 में हुई थी.

पिता का मतलब क्या है?

इसे परिभाषित करना शायद संभव न हो. क्योंकि पिता या पिता के प्यार को किसी परिभाषा तक सीमित नहीं किया जा सकता।

इसीलिए धार्मिक ग्रंथों में भी पिता को ईश्वर तुल्य माना गया है.

जीवन में पिता का होना पतंग की डोर की तरह है. पतंग की तरह जब तक वह डोर से बंधी रहती है, तब तक अनुशासित रहती है और आकाश पर राज करती है.

लेकिन जब पतंग डोर से अलग हो जाती है तो वह पथहीन हो जाती है और इधर-उधर भटकने लगती है.

पिता भी हमारे जीवन की डोर हैं और इस डोर से बंधे रहना अनुशासन का प्रतीक है. हालाँकि, आजकल की युवा पीढ़ी को जीवन में बहुत अधिक अनुशासन पसंद नहीं है। लेकिन सच तो यह है कि अनुशासन के बिना जीवन में कुछ भी नहीं है.

पिता का प्यार

माँ के पास अपना प्यार व्यक्त करने के लिए लोरी, स्नेह और कभी-कभी आँसू भी होते हैं।

ये आंसू प्यार और भावनाओं के आंसू हैं.लेकिन पिता के पास न तो लोरी है और न ही वह रोकर अपने प्यार या भावनाओं का इजहार कर पाते हैं.

पिता हमेशा पर्दे के पीछे यानी बैकस्टेज काम करते हैं. जिसे कोई देख नहीं सकता. लेकिन उनके काम के बिना जीवन की कल्पना करना असंभव है.

इसी तरह पिता का प्यार भी दिखाई नहीं देता, क्योंकि उनका प्यार भगवान जैसा होता है और इसे सिर्फ महसूस किया जा सकता है.

पिता अपनी हंसी को फिक्स डिपॉजिट की तरह जमा कर देते हैं

हमने अपने पिता को बहुत कम ही मुस्कुराते या हंसते हुए देखा है. अकेले होने पर भी वह कम ही मुस्कुराते हैं। परंतु अधिक चिंतित रहते हैं.

ऐसा लगता है जैसे वह अपनी हंसी को फिक्स डिपॉजिट की तरह बचाकर रख रहे हैं, जो भविष्य में काम आ सकती है.

वे हंसी को पैसे की तरह रखते हैं, ताकि सही समय आने पर इसे अपनों के साथ बांट सकें। बाप सब कुछ कुर्बान करते हैं। पैसा, जायदाद, ख़ुशी, जिंदगी सब कुछ।

Also read…

कटेगी पाकिस्तानी खिलाड़ियों की जेब, T20 वर्ल्ड कप 2024 में खराब प्रदर्शन के बाद बड़ी कार्रवाई के मूड में PCB!

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन