Modi Government Extends Postal Ballot: कोरोना वायरस के तेजी से फैलते संक्रमण को देखते हुए चुनाव आयोग ने मतदान के नियमों में बड़ा बदलाव किया गया है. आयोग द्वारा किए गए नए बदलाव के तहत 65 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्ग, कोरोना के मरीज या कोरोना संदिग्ध वोटर पोस्टल बैलट के जरिए वोटिंग कर सकेंगे. इस संबंध में भारत सरकार के कानून और न्याय मंत्रालय ने नोटिफिकेशन जारी किया है.

बता दें कि पहले ये सुविधा चुनिंदा लोगों को दी जाती थी मसलन अगर आप सेना या सरकार के लिए काम करते हैं या चुनाव की ड्यूटी के लिए अपने राज्य से बाहर तैनात हैं या आपको प्रिवेंटिव डिटेंशन में रखा गया है तो आप पोस्टल बैलेट के जरिए वोट डाल सकते हैं. चुनाव आयोग पहले ही चुनावी क्षेत्र में डाक मतदान करने वालों की संख्या को निर्धारित कर लेता है. इसके बाद खाली डाक मतपत्र को इलेक्ट्रॉनिक तरीके से वोटर तक पहुंचाया जाता है.

इसे Electronically Transmitted Postal Ballot System (ETPBS) कहा जाता है. अगर वोटर ऐसी जगह है जहां इलेक्ट्रॉनिक तरीके का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है तो वहां डाक सेवा से मतपत्र भेजा जाता है. अगर किसी कारण वोटर इसका प्रयोग नहीं कर पाता तो मतपत्र लौट आता है.

जानकारी के मुताबिक नवंबर में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग ने ये फैसला किया है ताकि बुजुर्गों को कोरोना से बचाया जा सके. बिहार में इस साल अक्टूबर और नवंबर महीने में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि चुनाव पर भी कोरोना वायरस का बड़ा असर पड़ने वाला है क्योंकि लोग डर के मारे घर से बाहर वोट डालने नहीं निकलेंगे.

Madhya Pradesh Cabinet Expansion: मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार का हुआ मंत्रिमंडल विस्तार, 28 नए मंत्रियों ने ली शपथ, सिंधिया गुट का दिखा दबदबा

Family Hospitalised After Consuming Bhang Curry: भांग को मेथी समझ सब्जी बनाकर खा गया परिवार, अस्पताल में भर्ती

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर