नई दिल्ली. MJ Akbar sexual Harassment Row: पिछले कुछ दिनों से #MeToo कैंपेन के तहत यौन शोषण के मामले में कई बड़ी हस्तियों का नाम सामने आया है. ऐसे ही आरोपों में घिरे विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर जल्द ही अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं. बता दें कि अकबर पर लगभग 7 महिलाओं ने यौन उत्पीड़न और बदसलूकी का आरोप लगाया है. ऐसे में खबर है कि जब तक उनपर लगे आरोपों के सही या गलत होने की पुष्टी नहीं हो जाती तब तक वे पार्टी और पद इस्तीफा दे सकते हैं. फिलहाल अकबर नाइजीरिया में हैं और जल्दी ही वहां से लौटकर इस्तीफा दे सकते हैं. 

बता दें कि राज्य मंत्री एमजे अकबर जल्द पर आरोप लगने के बाद केंद्रीय मंत्री मेनिका गांधी ने कहा था कि मामले की जांच होने चाहिए. अकबर पर आरोप लगाने वाली महिलाएं पत्रकार हैं. महिलाओं का कहना है कि अकबर होटल के रूम में इंटरव्यू लिया करते थे. जहां वे बिस्तर पर बैठने और शराब पीने के लिए कहते थे.

एक महिला ने एक न्यूज वेबसाइट को जानकारी दी कि कहा कि साल 1990 में एमजे अकबर जिस अखबार के संपादक थे, वहां ऑफिस में अधिकतर युवा लड़कियां ही थीं. महिलाओं का कहना है कि एमजे अकबर अपने अखबार में अधिकतर युवा महिलाओं को नौकरी पर रखते थे. उनके दफ्तर को अकबर का हरम कहा जाता था क्योंकि उनकी इमेज ही इस तरह की हो चुकी थी.

#MeToo: लेखक सुहेल सेठ पर चार महिलाओं ने लगाए यौन उत्पीड़न के आरोप, पीड़िता बोली- कुर्ते में डाला था हाथ

#MeToo कैंपेन में कूदीं परिणीति चोपड़ा, कहा- घटिया हरकत करने वालों का नाम बताए हर महिला

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App