प्रवासी मजदूरों को लेकर मंगलवार को सभी राज्यों को केंद्रीय गृह मंत्रालय के मुख्य सचिव अजय भल्ला ने पत्र लिखा है. प्रवासी श्रमिकों के संकटों को कम करने के लिए अजय भल्ला ने अपने लेटर के जरिए राज्यों को कई कदम उठा ने के सुझाव दिए हैं. इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने रेलवे मंत्रालय और राज्यों के बीच आपसी समझबूझ से और विशेष ट्रेन चलाने की बात कही है. गृह सचिव का कहना है कि रेल मंत्रालय और राज्यों के बीच तालमेल से और विशेष रेलगाड़ियों का प्रबंध करना बेहद अच्छा रहेगा.

 इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने ये भी कहा कि ठहरने के जगहों की व्यवस्था साफ-सफाई, भोजन एंव स्वास्थ्य की जरूरत को ध्यान में रखकर की जानी चाहिए. भल्ला का कहना है कि ट्रेनों और बसों के प्रस्थान को लेकर और ज्यादा स्पष्टता दिखानी चाहिए, ऐसा इसलिए क्योंकि स्पष्टता नहीं होने के चलते कई तरह के अफवाह फैलाए जा रहे हैं, जिससे श्रमिकों में काफी बेचैनी नजर आ रही है.

 सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि भल्ला का ये भी कहना है कि विशेष रूप से प्रवासी श्रमिकों के बीच महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों की जरूरतों का ध्यान देना चाहिए. उनका ये भी कहना है कि पैदल चल रहे मजदूरों के लिए जिला प्रशासन के अधिकारी ठहरने के लिए निर्धारित स्थान की व्यवस्था करवा सकते हैं, या फिर परिवहन के साधन की व्यवस्था करवाकर उन्हें रेलवे स्टेशन और बस अड्डे तक भेज सकते हैं.

उन्होंने अपने लेटर में आगे लिखा है कि मजदूरों से उनके फोन नंबर और पता को लिखवा लेना चाहिए जो उनके बारे में पता लगाने में काफी मदद करेगा. साथ ही जहं मजदूरों को ठहरना है वहां एनजीओं के प्रतिनिधियों को काम पर लगा देना चाहिए. उन्होंने पत्र में ये भी लिखा कि आप चाहते हैं मजदूर जहां है वहीं रहें तो खाना, स्वास्थ्य सुविधा और काउंसलिंग की व्यवस्था करवा देनी चाहिए.

Coronavirus in India: देश में कोरोना वायरस का आंकड़ा 1 लाख के पार, पिछले 5 दिनों में 23 हजार नए केस

Nawazuddin Siddiqui Quarantine in Budhana UP: लॉकडाउन में मुंबई से अपने गांव यूपी के बुढ़ाना पहुंचे बॉलीवुड एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी, 14 दिन तक परिवार सहित घर में रहेंगे क्वारंटाइन

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर