नई दिल्ली. पीएनबी घोटाले के आरोपी मेहुल चौकसी ने भारत की सरकार को बड़ा झटका दिया है. उसने अपनी भारतीय नागरिकता छोड़ दी है. यहां तक की उसने अपना पासपोर्ट भी भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया है. ये भारत सरकार के लिए बड़ा झटका है क्योंकि काफी समय से भारत सरकार मेहुल चौकसी के प्रत्यर्पण में जुटी है. बता दें कि पीएनबी घोटाले के आरोपी मेहुल चौकसी के मामले में कोर्ट में हुई पिछली सुनवाई में मेहुल ने कहा था कि उसका स्वास्थ्य खराब है जिस कारण वो फ्लाइट में 41 घंटे का सफर करके भारत नहीं आ सकता है.

भारतीय नागरिकता छोड़ने के लिए मेहुल चोकसी ने 177  यूएस डॉलर का ड्राफ्ट जमा करवाया है. मेहुल चोकसी ने हाई कमीशन को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि उसने नियमों के तहत एंटीगा की नागरिकता ले ली है और भारतीय नागरिकता छोड़ी है. मेहुल चौकसी ने देश में सबसे बड़ा बैंकिंग घोटाला किया था. मेहुल चोकसी पंजाब नैशनल बैंक में 14 हजार करोड़ रुपये के घोटाले का आरोपी है. इसका खुलासा होते ही हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी भारत छोड़कर एंटीगा भाग गया. उसने जनवरी 2018 में भारत छोड़ दिया था.

अब उसने भारतीय नागरिकता भी छोड़ दी है. सोमवार को मेहुल ने नागरिकता छोड़ते हुए अपना भारतीय पासपोर्ट अधिकारियों को सरेंडर कर दिया है. चोकसी ने अपना पासपोर्ट एंटीगा हाई कमीशन में जमा करवाया है. चोकसी को भगोड़ा और आर्थिक अपराधी घोषित करवाने के लिए प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के तहत स्पेशल कोर्ट में एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई हो रही है. इसी केस में उसका भांजा नीरव मोदी भी आरोपी है.

Kareena Kapoor Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस की टिकट पर भोपाल से लोकसभा चुनाव लड़ेंगी करीना कपूर !

NRI Indian Summit 2019: आज वाराणसी में होगी प्रवासी भारतीय सम्मेलन-2019 की शुरुआत, 50 देशों से आएंगे मेहमान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App