नई दिल्ली. पुलवामा आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड मौलाना मसूद अजहर की मौत की खबर को आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने खारिज कर दिया है. एक बयान में जैश ने कहा कि मसूद अजहर की मौत नहीं हुई है और वह पूरी तरह ठीक है. इसके पहले पाकिस्तान की स्थानीय मीडिया ने अजहर के मरने की खबर दी थी. मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना द्वारा पीओके और पाकिस्तान में की गई एयर स्ट्राइक में मसूद अजहर गंभीर रूप से घायल हो गया और उसकी मौत हो गई.

इस खबर की पुष्टि अब तक पाकिस्तान सरकार या किसी अधिकारी ने भी नहीं की है. लेकिन शुक्रवार को पाक पीएम इमरान खान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक बयान में कहा था कि मसूद अजहर बहुत बीमार है और वह अपने घर से बाहर भी नहीं निकल सकता. रिपोर्ट्स में उसकी किडनी फेल होने की बात कही गई थी और इलाज पाकिस्तान के रावलपिंडी में चल रहा है.

मसूद अजहर एक बार भारत के हाथ आ चुका है. लेकिन 1999 में कंधार विमान अपहरण के बाद यात्रियों की सलामती के बदले उसे तत्कालीन अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने रिहा कर दिया. आइए आपको बताते हैं कि मसूद अजहर कैसे पकड़ा गया था.

साल 1994 में मसूद अजहर पुर्तगाल के पासपोर्ट के जरिए बांग्लादेश होते हुए भारत में आया था. यहां से वह बांग्लादेश पहुंचा. फरवरी 1994 में उसे कश्मीर के अनंतनाग से गिरफ्तार कर लिया गया था. एक वरिष्ठ पुलिस अफसर ने बताया था कि मसूद अजहर से जानकारी उगलवाने के लिए ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी थी. एक सैन्य अफसर के थप्पड़ पर उसने सब कुछ बता दिया. उसने पाकिस्तान में होने वाली आतंकवादी गतिविधियों और भर्ती की प्रक्रिया के बारे में भी बताया था. एक पुलिस अफसर ने बताया था, ”पूछताछ के दौरान अजहर यह भी कहता था कि भारत उसे ज्यादा दिन कस्टडी में नहीं रख पाएगा क्योंकि वह पाकिस्तान और आईएसआई के लिए अहम है. वह कहता था कि आप मेरी पॉपुलैरिटी नहीं समझ रहे हैं. आईएसआई मुझे पाकिस्तान पहुंचाएगी.”

Masood Azhar is Dead Social Media Reaction: पाकिस्तान में जैश ए मोहम्मद आतंकी मसूद अजहर की मौत ! सोशल मीडिया पर लोग बोले- आज भारत में दिवाली

Maulana Masood Azhar is Dead? आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर की मौत ! भारतीय वायुसेना के हमले में हुआ था घायल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App