नई दिल्ली. मानसून सत्र के दूसरे दिन लोकसभा भारी हंगामें के बीच शुरू हुई। विपक्ष तख्ती लेकर नारेबाजी करते हुए वेल में आ गए। जिसके बाद सदन की कार्यवाही 2 बजे तक स्थगित कर दी गई।

विपक्षी पार्टियां लगातार लोकसभा और राज्यसभा दोनों ही सदनों में इस विषय पर चर्चा की मांग कर रही हैं। वहीं राज्यसभा में सीपीआई नेता बिनॉय विश्वम, राजद सांसद मनोज झा, AAP सांसद संजय सिंह समेत अन्य कई सांसदों द्वारा इस विषय पर चर्चा की मांग की गई है।

क्या है मामला

दरअसल, बीते दिन दुनिया के अलग-अलग देशों की कई मीडिया एजेंसियों द्वारा एक रिपोर्ट जारी की गई है. जिसमें दावा किया गया है कि इजरायली स्पाइवेयर पेगासस की मदद से कई देशों की सरकारें अपने यहां चिन्हित लोगों के फोन हैक कर उनकी जानकारियां हासिल कर रही थीं। इसमें भारत का भी नाम है, यहां के कई पत्रकार, विपक्षी नेता, मंत्री और अन्य के फोन हैक किए जाने का दावा किया गया है।

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत के करीब 300 फोन नंबर को इस दौरान हैक किया गया था। अधिकतर नंबर को 2018 और 2019 के बीच हैक किया गया था। मीडिया कंपनियों द्वारा इस मसले पर पूरी सीरीज़ निकाली जाएगी, अभी तक कई पत्रकारों समेत राहुल गांधी, प्रशांत किशोर सरीखे नाम सामने आए हैं।

Pegasus Scandal: पत्रकारों के बाद राहुल गांधी और प्रशांत किशोर की भी जासूसी, कांग्रेस ने की गृहमंत्री से इस्तीफे की मांग

Opposition on Pegasus: पेगासस जासूसी पर विपक्ष ने सरकार को घेरा, ओवैसी बोले- हैकिंग और टैपिंग अपराध चाहे सरकार करे या कोई शख्स