चंडीगढ़. Manohar lal Khattar On Kashmiri Girls After Article 370 Revoked: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शुक्रवार को यह कहते हुए एक विवाद खड़ा कर दिया कि अनुच्छेद 370 के जम्मू-कश्मीर से हटाए जाने के बाद लड़कियों को शादी के लिए जाहिरा तौर पर कश्मीर से लाया जा सकता है. एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, हमारे मंत्री ओ पी धनखड़ कहते थे कि वह बिहार से बहू लाएंगे. आजकल लोग कह रहे हैं कि कश्मीर का रास्ता साफ हो गया है. अब हम कश्मीर से लड़कियां लाएंगे.

कुछ दिनों पहले उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के एक भाजपा विधायक ने ऐसी ही टिप्पणी की थी, जिसमें कहा गया था कि पार्टी कार्यकर्ता धारा 370 को खत्म करने से उत्साहित थे क्योंकि अब वे गोरी कश्मीरी से शादी करने में सक्षम होंगे. संविधान का अनुच्छेद 35 ए एक महिला, जो जम्मू-कश्मीर की निवासी है, अपने संपत्ति के अधिकार और राज्य के विषय की स्थिति खो देगी यदि वह राज्य के बाहर के व्यक्ति से शादी करती है. ऐसी महिलाओं के बच्चों के लिए भी प्रावधान बढ़ाया गया. इसी अनुच्छेद को प्रधानमंत्री नरेंध्र मोदी सरकार ने हटा दिया है.

यह पहली घटना नहीं है कि मनोहर लाल खट्टर ने ऐसी टिप्पणी की है जिससे विवाद छिड़ा हो. पिछले साल उन्होंने बलात्कार की घटनाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करके विवाद को जन्म दिया था. इस बार उन्होंने फतेहाबाद में महर्षि भागीरथ जयंती समरोह के एक राज्य-स्तरीय समारोह को संबोधित करते हुए ये विवादित बयान दिया. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कार्यक्रम में हरियाणा में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की सफलता पर बोल रहे थे.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने इस कार्यक्रम में कहा, बेटियों की कम जन्म दर के कारण हरियाणा बदनाम था. सरकार ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान शुरू किया, जिसके कारण प्रति 1,000 लड़कों पर पैदा होने वाली लड़कियों की संख्या 850 से बढ़कर 933 हो गई है. हमें इस संख्या को 1,000 तक ले जाना होगा.

Arun Jaitley Admitted to AIIMS: पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की तबीयत बिगड़ी, सीने में दर्द की शिकायत के बाद एम्स में भर्ती

SC Hearing In Ayodhya Land Dispute Case: अयोध्या राम जन्मभूमि मामले में चौथे दिन शुक्रवार को सुनवाई के दौरान क्या क्या हुआ, किसने पेश की कौन सी दलील? पढ़िए पूरा टाइमलाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App