मुंबई/नई दिल्ली. कांग्रेस नेता और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मौजूदा केंद्र सरकार पर देश की अर्थव्यवस्था के कमजोर होने और बैंकों की हालत खस्ता हो जाने पर हमला बोला है. उन्होंने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पूर्व में दिए गए बयान पर भी पलटवार किया है. मनमोहन सिंह ने महाराष्ट्र के मुंबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि आर्थिक मंदी से देश के लोगों के भविष्य पर असर पड़ रहा है. किसान की हालत और बदतर हो रही है. नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों से आयात-निर्यात में समस्याएं आ रही हैं. ऑटो सेक्टर में पर इसका सबसे ज्यादा असर पड़ा है. बेरोजगारी की दर बढ़ रही है. मनमोहन सिंह ने कहा कि मोदी सरकार इन समस्याओं का समाधान निकालने के बजाय दूसरों के सिर अपना दोष मढ़ने का काम कर रही है.

मनमोहन सिंह ने बताया कि वे पहले भी कह चुके हैं कि 2018 में हमारे देश की अर्थव्यवस्था 2.7 ट्रिलियन डॉलर की है और 2024 तक यदि 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य पाना है तो मौजूदा विकास दर 10-12 प्रतिशत होनी चाहिए. मगर बीजेपी सरकार के कार्यकाल में साल दर साल देश की विकास दर गिरती ही जा रही है.

उन्होंने बताया कि इंटरनेशनल मोनेट्री फंड, आईएमएफ ने अपने एक बयान में भारत की विकास दर 6.1 प्रतिशत बताई थी जो कि कुछ महीने पहले 7.3 प्रतिशत थी. मनमोहन सिंह का कहना है कि जिस प्रकार लगातार विकास दर में गिरावट आ रही है उन्हें नहीं लगता कि हम 2024 तक 5 ट्रिलियन डॉलर के टारगेट को नहीं पा सकते.

महाराष्ट्र में अगले हफ्ते होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भी मनमोहन सिंह ने बीजेपी सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि देश में आई आर्थिक मंदी की वजह से महाराष्ट्र पर बुरा असर पड़ा है. ऑटो सेक्टर की हालत पुरी तरह खस्ता हो चुकी है और राज्य का हर तीसरा आदमी बेरोजगार है. निवेशक महाराष्ट्र से अपना निवेश हटा रहे हैं. किसान आत्महत्या कर रहे हैं. मगर राज्य और केंद्र सरकार को इसका इल्म तक नहीं है.

Also Read ये भी पढ़ें-

 पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की पीएमसी बैंक संकट पर बीजेपी सरकार से अपील- पीएम नेशनल रिलीफ फंड से खाताधारकों की मदद करे नरेंद्र मोदी सरकार

 पीएमसी बैंक संकट के बाद एचडीएफसी बैंक पासबुक पर स्टैंप लगीं फोटो वायरल होने से ग्राहकों में हड़कंप, डरें नहीं, जानें सच्चाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App