नई दिल्ली: दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया को आखिरकार वर्ल्ड एजुकेशन कॉन्फ्रेंस में शामिल होने मॉस्को जाने की इजाजत मिल गई है. मंगलवार करीब 12 बजे मनीष सिसोदिया ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया था कि भारत सरकार नहीं चाहती कि दिल्ली सरकार की ख्याति अंतराष्ट्रीय मंच तक पहुंचे. इसके बाद आम आदमी पार्टी के कई नेता सिसोदिया के समर्थन में उतरे और शाम होते-होते खबर आई कि मनीष सिसोदिया को सरकार ने मॉस्को जाने की इजाजत दे दी है.

मनीष सिसोदिया ने खुद ट्वीट कर जानकारी दी है. उन्होंने लिखा कि आखिरकार सरकार ने उन्हें दस दिन इंतजार के बाद उन्हें वर्ल्ड एजुकेशन कॉन्फ्रेंस में जाने की इजाजत दे दी है. आगे उन्होंने लिखा कि ये मेरा सौभाग्य है कि मैं दुनियाभर के शिक्षा मंत्रियों के सामने भारत की शिक्षा विरासत को रख सकूंगा ताकि उन्हें ये समझने में मदद मिले कि वो इस शिक्षा का इस्तेमाल कर कैसे दुनिया को और बेहतर बना सकते हैं.

दरअसल मगंलवार दोपहर  उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली में शिक्षा के क्षेत्र में आए बदलाव को अंतराष्ट्रीय ख्याति मिल रही है. पिछले कुछ महीनों से अंतराष्ट्रीय मीडिया इसे कवर कर रहा है.

आगे उन्होंने कहा था कि वर्ल्ड एजुकेशन कॉन्फ्रेंस में दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था में आए बदलाव पर बोलने के लिए उन्हें मॉस्को से आमंत्रित किया गया था. उन्हें आज रात ही मॉस्को के लिए निकलना था लेकिन ये दुर्भाग्यवश केंद्र सरकार ने उन्हें इजाजत नहीं दी. पिछले दस दिनों से उनके मॉस्को जाने की प्रक्रिया प्रोसेस में है. 

उन्होंने एक और ट्वीट कर कहा कि पीएम मोदी नहीं चाहते कि आम आदमी पार्टी सरकार के काम की ख्याति अंतराष्ट्रीय मंच तक पहुंचे. उन्होंने आगे लिखा कि सर दिल्ली भी भारत का ही हिस्सा है. अगर हमारे स्कूलों को अंतराष्ट्रीय पहचान मिल रही है तो ये हमारे देश के लिए गर्व की बात है.

आप नेता अंकित लाल ने भी डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के पक्ष में ट्वीट कर लिखा कि मनीष सिसोदिया को मॉस्को जाने से रोका जाना शर्मनाक है. उन्होंने कहा कि हम अगर विदेश जाते हैं तो भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं ना कि किसी खास पार्टी के प्रतिनिधि के तौर पर जाते हैं. आशा करता हूं कि भारत सरकार थोड़ी बेहतर राजनीतिज्ञता दिखाए.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App