दिल्ली. आम आदमी पार्टी की  दिल्ली सरकार बहुत जल्द 500 स्कूलों की छत पर सोलर प्लेट लगाने वाली है जिससे बिजली पैदा की जा सकेगी. दिल्ली सरकार ने पायलट प्रोजेक्ट के तहत 21 स्कूलों में सोलर पैनल लगाए हैं जहां से अच्छे नतीजे आए हैं. दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्विटर पर जानकारी देते हुए बताया कि दिल्ली के एक स्कूल में सोलर पैनल लगाने के बाद वहां का बिजली बिल 35 हजार से सीधा शून्य पर पहुंच गया है.

दिल्ली के स्कूली शिक्षा में सुधारों की देश भर में खूब चर्चा हुई है. इसी कड़ी में अब स्कूलों को बिजली के मामले में आत्मनिर्भर बनाने के लिए आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली के 500 स्कूलों में सोलर पैनल लगाने का निर्णय लिया है. दिल्ली सरकार पहले ही 21 स्कूलों में पायलट प्रोजेक्ट के तहत सोलर पैनल लगा चुकी है जिसके अच्छे नतीजे सामने आ रहे हैं. दिल्ली के 100 अन्य सरकारी स्कूलों में भी सोलर पैनल लगाने का काम चल रहा है. शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया के मुताबिक दिल्ली के स्कूल इस पहल से न सिर्फ बिजली के मामले में आत्मनिर्भर हो सकेंगे बल्कि बिजली सरप्लस को बेचकर सरकारी खजाने में इजाफा भी हो सकेगा.

आर्थिक सर्वे के मुताबिक दिल्ली में शिक्षा पर जीडीपी का सबसे अधिक हिस्सा खर्च होता है. दिल्ली सरकार 1.70 प्रतिशत जीडीपी का हिस्सा शिक्षा पर खर्च करती है. 2016-17 में शिक्षा पर औसत सालाना खर्च जहां 54,910 रुपये था वहीं साल 2018-19 में यह खर्च बढ़कर 66,038 हो गया. दिल्ली सरकार ने सरकारी स्कूलों के नवीनीकरण पर भी काफी धन खर्च किया है. 2018-19 में 52 सरकारी स्कूलों का नवीनीकरण किया था जिसके अंतर्गत लगभग 12,748 अतिरिक्त क्लासरूम का निर्माण हुआ. इसके अलावा लगभग 300 स्कूलों में नर्सरी क्लास में हैप्पीनेस सिलेबस को शामिल किया गया. हाल ही में सीबीएससी के 10वीं रिजल्ट में कुल परिणाम में 2.68 प्रतिशत का सुधार हुआ है. ऐसे में दिल्ली सरकार की यह पहल भी देश के सरकारी स्कूलों के लिए एक नजीर बन सकती है.

दिल्ली सरकार के कार्यक्रम में शत्रुघ्न सिन्हा ने की AAP की तारीफ, BJP कार्यकर्ताओं ने दिखाए काले झंडे

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App